General News

पुलिस सुरक्षा के बीच दो महिलाएं सबरीमाला मंदिर के लिए रवाना

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

हैदराबाद की एक महिला पत्रकार ने शुक्रवार को सबरीमला पहाड़ी की चढ़ाई शुरू कर दी.  विदेशी मीडिया संगठन के लिए काम करने वाली दिल्ली की पत्रकार के मंदिर में दर्शन करने में विफल रहने के एक दिन बाद एक अन्य महिला ने चढ़ाई शुरू की है .

पुलिस ने महिला को सुरक्षा मुहैया कराई है. महिला ने अपने पेशेवर काम के सिलसिले में सबरीमला सन्निधानम जाने के लिए सुरक्षा देने का अनुरोध किया था .


अभी तक शुक्रवार को भगवान अयप्पा मंदिर में माहवारी की उम्र वाली लड़कियों और महिलाओं के प्रवेश का विरोध कर रहे श्रद्धालुओं ने कोई प्रदर्शन नहीं किया है .

महिला की उम्र लगभग 25 वर्ष है और अगर वह सबरीमला पहाड़ी पर चढ़ जाती है तो वह उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद सबरीमला के भगवान अयप्पा मंदिर में जाने वाली माहवारी उम्र की पहली महिला होगी . उच्चतम न्यायालय ने 28 सितंबर के अपने फैसले में मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं के प्रवेश को अनुमति दे दी थी .

गुरुवार को नयी दिल्ली की एक महिला पत्रकार को श्रद्धालुओं ने बीच रास्ते में रोक दिया था .

अपने विदेशी पुरुष सहकर्मी के साथ गई पत्रकार विरोध बढ़ने के मद्देनजर मराकोट्टम इलाके से वापस लौट गई थी .

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद देश से सर्वाधिक साक्षरता वाले प्रदेश में बड़ी संख्या में मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर लोगों ने विरोध किया था. बड़ी संख्या में महिलाओं ने सरनम अयप्पा का गाते हुए रजस्सवला उम्र की महिलाओं के प्रवेश का विरोध किया था. 

विरोधियों ने सबरीमाला के प्रवेश स्थान को ब्लॉक कर दिया है. सन्निधानमा में विरोध करने वाले भक्तों की भीड़ इकट्ठी हो गई है. वो महिला भक्तों को मंदिर के अंदर जाने से रोकने की धमकी दे रहे हैं . ह

पहले दो महिला रिपोर्टर्स ने पुलिस अधिकारियों से मिलकर गुजारिश की कि वो मंदिर में जाकर रिपोर्टिंग करना चाहती है. लेकिन पुलिस अधिकारियों ने उन्हें मना कर दिया.  बाद में उन्होंने आईजी से मुलाकात की . आईजी पुलिस उन्हें सुरक्षा देने को तैयार गो दए. उन्होंने कहा कि सुबह 6 बजे इसके लिए निकलना होगा. महिलाएं सुबह ही सबरीमाला मंदिर के लिए रवाना हो गई हैं. करीब 150 पुलिस वाले उनकी सुरक्षा कर रहे हैं. 

( इनपुट - भाषा से भी )
 

DO NOT MISS