pc - twitter/@SeemaKumarGill
pc - twitter/@SeemaKumarGill

General News

MDH के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी के निधन की खबर झूठी, परिवार ने जारी किया वीडियो

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

मसाला किंग महाशय धर्मपाल गुलाटी के निधन की खबर झूठी है. उनके परिवार की ओर से जारी वीडियो में धर्मपाल ने संदेश जारी करते हुए कहा कि वह एकदम स्वस्थ हैं. 

बता दें सोशल मीडिया पर उनके निधन की अफवाह उड़ी थी. उसके बाद कई प्रमुख वेबसाइट ने भी खबर पब्लिश कर दी. फिलहाल अब परिवार की ओर से वीडियो जारी हो गया है .


आपको बता दें धर्मपाल गुलाटी का जन्म 1922 में पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था. बंटवारे के बाद उनका परिवार दिल्ली आ गया. उन्होंने यहां पर मसाले का काम शुरू किया और एमडीएच मसाला जैसी कंपनी खड़ी कर दी जो पूरी दुनिया में मसालों के लिए विख्यात है. 

भारत पाकिस्तान बंटवार के बाद मसाला किंग के परिवार के सामने मुसीबत खड़ी हो गई. पाकिस्तान से लोग पलायन करने गले. उनका परिवार धार्मिक हिंसा शुरू होने के बाद  7 सितंबर 1947 को अमृतसर चला आया और यहां शरणार्थी शिविर में रहने लगा. उस वक्त धर्मपाल गुलाटी की उम्र 23 साल थी. यहां से वे काम की तलाश में दिल्ली चले आए. 

यह भी पढ़े - EXCLUSIVE : तनुश्री के आरोपों पर नाना पाटेकर ने कहा - 'बाद में इतमिनान से जवाब दूंगा'

धर्मपाल के अनुसार अमृतसर दंगा प्रभावित होने के बाद वह दिल्ली चले आए थे . उस वक्त उनके पिता ने उन्हें 1500 रुपये दिए थे. उन्होंने दिल्ली में बिना पानी, बिजली और शौचालय वाला एक फ्लैट लिया और दो जून की रोटी के लिए तांगा चलाने लगे. कुछ समय बाद उन्होंने अजमल खान रोड पर मसालों की एक छोटी सी दुकान खोल दी . दुकान अच्छी चलने लगी. धर्मपाल ने 1953 में चांदनी चौक में एक और दुकान किराए पर ली. इसके बाद जब कारोबार बढ़ने लगा तो 1959 में कीर्ति नगर में एक प्लॉट  खरीद फैक्टरी शुरू कर दी. आज एमडीएस पूरी दुनिया में मशहूर है. 

पांचवी पास गुलाटी के पिछले वित्तीय वर्ष 2016-17 के दौरान 21 करोड़ की कमाई की थी. जो गोदरेज कंज्यूमर के अलावा गोदरेज और हिंदूस्तान यूनिलीवर के ऑनर की कमाई से कहीं ज्यादा थी.

यह भी पढ़े - EXCLUSIVE : नाना पर लगाए आरोपो को पब्लिसिटी स्टंट करार देने वालो को तनुश्री ने दिया करारा जबाव

DO NOT MISS