General News

WATCH: इस्लामिक देशों का भारत को सम्मान, इस्लाम का हीरो पाक अब 'ज़ीरो'

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

जिस देश की बुनियाद इस्लाम के आधार पर पड़ी हो, जो देश खुद को इस्लामिक दुनिया का झंडाबरदार मानता हो, जो हर वक्त मुस्लिम ब्रदरहुड की दुहाइयां देता हो। वो पाकिस्तान आज 57 इस्लामिक देशों के संगठन में ही दुत्कारा जाने लगा है। खुद को इस्लामिक देशों का सबसे ताकतवर देश बताने वाला पाकिस्तान इस्लामिक देशों के मंच पर ही बुरी तरह पिट गया है।

दरअसल आज से इस्लामिक देशों के सबसे बड़े संगठन OIC का एक समिट हो रहा है। जिसमें भाग लेने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अबू धाबी पहुंच गई हैं और पाकिस्तान इससे बुरी तरह खिसिया गया है। 

एक तरफ सुषमा स्वराज अबू धाबी पहुंच गई हैं जिनका वहां एयरपोर्ट पर स्वागत हुआ और दूसरी तरफ पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी बैठक के बहिष्कार की धमकी दे रहे हैं।

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अबू धाबी में हो रही इस्लामिक देशों के विदेश मंत्रियों की सालाना मुलाकात में गेस्ट ऑफ ऑनर है और भारत को मिले इस ऑनर ने पाकिस्तान के दिल में हॉरर पैदा कर दिया है। अबू धाबी में सुषमा स्वराज का जोरदार स्वागत किया गया। नीचे दी गई ये तस्वीर देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान खुद को जिस कुनबे का सबसे अहम सदस्य मानता है उसी कुनबे ने आज पाकिस्तान को उसकी जगह बता दी है।

अब आपको बताते हैं कि आखिर ये OIC है क्या और दुनिया में  इस्लामिक देशों का ये संगठन कितना दम रखता है

OIC को जानिए

  • 57 इस्लामिक देशों का संगठन 
  • संगठन में पाकिस्तान भी शामिल 
  • संयुक्त राष्ट्र के बाद सबसे बड़ा संगठन
  • 1969 में मोरक्को में पहला समिट
  • फिलिस्तीन को छोड़ सभी यूएन के पूर्ण सदस्य
  • मुस्लिम देशों के लिए नीतियां बनाने का काम

इस्लामिक सहयोग संगठन यानी OIC में पाकिस्तान को मिलाकर 57 देश शामिल हैं। जिसमें से 56 देश भारत के साथ हैं, यानी  कूटनीति की दुनिया में भारत का सीना आज एक बार फिर 56 इंच हो गया है। जबकि पाकिस्तान को एक बार फिर मुंह की खानी पड़ी है।

खिसियाए पाकिस्तान ने OIC की इस बैठक के बहिष्कार की धमकी दी है। बता दें, ये पहली बार है, जब भारत के किसी विदेश मंत्री को इस्लामिक देशों के इस महामंच पर बुलाया गया है।

पुलवामा हमले के बाद से भारत पाकिस्तान को कूटनीतिक तौर पर अलग-थलग करने की मुहिम में लगा हुआ है और OIC में सुषमा की मौजूदगी इसमें मददगार साबित हो सकती है। क्योंकि सुषमा स्वराज एक साथ 56 देशों को पाकिस्तान के असली चेहरे से रूबरू कराएंगी। UAE और सउदी अरब से भारत के संबंध पिछले कुछ सालों में बेहद मजबूत हुए हैं, जो पाकिस्तान के लिए किसी सदमे से कम नहीं है।

अमेरिका और पाकिस्तान के रिश्तों में तल्खी आने के बाद, पाकिस्तान सऊदी अरब और चीन से मिलने वाली मदद के बूते ही जिंदा है। ऐसे में इस्लामिक देशों के सबसे बड़े जमावड़े में भारत की मौजूदगी उसे पच नहीं रही। 

लेकिन पाकिस्तान को समझना होगा कि भारत 19 करोड़ मुसलमानों का भी देश है और मुस्लिम आबादी की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर है। इसलिए पाकिस्तान को चाहिए कि वो ये बात मान ले कि इस नए हिंदुस्तान से टकराना उसके बूते की बात नहीं है।

DO NOT MISS