General News

Exclusive दस्तावेज : अवैध खनन मामले में नया मोड़- यूपी के पूर्व CM अखिलेश यादव ने आवंटित किए थे 11 माइंस

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश में अवैध खनन घोटाले मामले को लेकर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सीबीआई के रडार में आ गए. वहीं रिपब्लिक भारत पास मौजूद एक्सक्लूसिव दस्तावेज से यह साफ जाहिर होता है कि यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल के दौरान हमीरपूर जिले में 14 खनन लीज आवंटित किए थे.  


इधर अवैध खनन मामले को लेकर सीबीआई का सपा अध्यक्ष अखिलेश पर शिकंजा कसने को बसपा अध्यक्ष मायावती ने बीजेपी का घिनौना चुनावी षड्यंत्र करार दिया. मयावती ने  कहा की यह बीजेपी का एक पुराना हथकंडा है. जो अपने विरोधियों के खिलाफ आजमाती रहती है, इस तरह सपा को कांग्रेस के साथ - साथ बसपा का साथ मिल गया. 


इससे पहले यूपी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ  नाथ सिंह ने प्रेसकॉन्फ्रेंस कर अखिलेश यादव से 6 सवाल किए . 

1. अखलेश यादव जी आपने ने ई-टेंडरिंग की प्रथा तो लाई. मगर आपकी अधिकारी बी चंद्रकला ने उस ई- टेंडर का खुले-आम उल्लंघन करती हैं क्या यह आपकी जानकारी में था ?

2. जिस दौरान यह खनन की लूट मची उस समय आप खनन मंत्री थे या नहीं ?

3. अखिलेश यादव की सरकार ने 2012-13 में किस वजह से बी चंदलेखा को हमीरपुर का डीएम बनाया गया ?

4.आप और आपकी पार्टी के लोगों के अवैध खनन मामले में आरोपी दिनेश कुमार मिश्रा , अंबिका तिवारी , संजय दीक्षित और अदिल खान से क्या संबंध हैं ?

5. आपके बाद तुरंत खनन बने गायत्री प्रजापती . क्या ये जो तार उनसे जुडा हुआ था इसलिए आपने उन्हें अंडरग्राउंड किया था.

6. आपने अपना घर खाली करते वक्त दीवारों को भी तोड़ कर ले गए थे. क्या हमीरपुर के लूट के पीछे का राज उस दीवार में छुपा था. इसका खुलासा करें.

बता दें कि सीबीआई ने अवैध खनन मामले में आईएएस अधिकारी बी. चंद्रकला के आवास समेत अन्य के लखनऊ, कानपुर, नोएडा, हमीरपुर, जालौन और दिल्ली समेत 14 ठिकानों पर छापेमारी की थी. सपा सरकार के दौरान वर्ष 2012-13 में खनन विभाग पूर्व सीएम अखिलेश यादव के पास ही था.

इसलिए अवैध खनन घोटाले को लेकर सीबीआई पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से पूछताछ कर सकती है. सीबीआई ने बुंदेलखंड में अवैध खनन के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर बुधवार को ही चंदकला समेत 11 पर एफआईआर दर्ज की थी. 2011 के बाद से राज्य के सभी खनन मंत्री जांच के दायरे में हैं, ऐसे में सीबीआई अखिलेश यादव, गायत्री प्रसाद प्रजापति और उनके करीबी सपा एमएलसी रमेश मिश्रा से पूछताछ कर सकती है.


 

DO NOT MISS