General News

मॉब लिंचिंग पर बोले पीएम मोदी, 'पूरे झारखंड को बदनाम किया जा रहा '

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:


लोकसभा और राज्यसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर चर्चा हो रही है। लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को राज्यसभा में अपना जवाब दे रहे हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हिंसा की घटना चाहे झारखंड में हो या फिर पश्चिम बंगाल में हो या फिर केरल में हो, हमारा सभी के लिए एक ही मानदंड होना चाहिए। तभी हिंसा को हम रोक पाएंगे और तब ही हिंसा करने वालों को सबक मिलेगा कि इस एक मुद्दे पर पूरा देश एक है ।


पीएम मोदी ने कहा  झारखंड को मॉब लिंचिंग का अड्डा बताया गया, युवक की हत्या का दुख मुझे भी है और सबको होना चाहिए। दोषियों को सजा होनी चाहिए, लेकिन इसके बिनाह पर एक राज्य को दोषी बताना क्या हमें शोभा देता है फिर तो हमें वहां अच्छा करने वाले लोग ही नहीं मिलेंगे, सबको कटघरे में लाकर राजनीति तो कर लेंगे लेकिन हालात नहीं सुधार पाएंगे। उन्होंने कहा कि अपराध होने पर उचित रास्ता संविधान, कानून और व्यवस्था से निकलता है और उसके लिए जितना कर सकते हैं करना चाहिए, पीछे नहीं हटना चाहिए. मेरा और तेरा आतंकवाद से दुनिया का सबसे बड़ा नुकसान हुआ है और हिंसा की घटना कहीं हो हमारी एक ही पैमाना होना चाहिए। हिंसा पर राजनीतिक नहीं होनी चाहिए और भी जगह हम पॉलिटिकर स्कोर कर सकते हैं।


प्रधानमंत्री ने कहा, महिला सशक्तिकरण के लिए कांग्रेस को कई बड़े मौके मिले, लेकिन हर बार वो चूक गए।1950 के दायरे में Uniform Civil Code पर बहस के दौरान वे पहला मौका चूके। इसके 35 साल बाद शाह बानो केस के दौरान एक और मौका गंवाया। अब तीन तलाक बिल के रूप में इनके पास एक और मौका है । उन्होंने कहा ''कांग्रेस को अपना Old India वापस चाहिए,  जहां पत्रकार वार्ता में कैबिनेट के निर्णय को फाड़ दिया जाए, जहां नौसेना को सैर-सपाटे के लिए इस्तेमाल किया जाए, जहां जल, थल, नभ हर जगह घोटाले हों, लेकिन देश की जनता हिन्दुस्तान को पुराने दौर में ले जाने के लिए कतई तैयार नहीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना पर भी सदन के भीतर सवाल उठाए गए। पांच सालों में कई सांसदों ने मुझे पीएम राहत कोष से मदद देने की अपील की। आयुष्मान भारत की ताकत उस सांसद को मालूम है जिसने पीएम कोष से गरीब की मदद के लिए कभी चिट्ठी लिखी हो। आज एक भी चिट्ठी पेंडिंग नहीं है क्योंकि उसे इस योजना से इलाज मिल रहा है। एक बीमारी से 20 साल की मेहनत चली जाती थी, क्रेडिट मोदी ले जाएगा इसकी चिंता मत करो 2024 के लिए नई योजना लेकर आएंगे। बिहार के चमकी बुखार का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह हमारे लिए शर्म और दुख की बात है और इसे हम सभी को गंभीरता से लेना होगा। पीएम मोदी ने कहा पूर्वी उत्तर प्रदेश में इन दिनों अच्छी स्थिति नजर आ रही है। उन्होंने कहा कि संकट से बाहर निकालने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री के संपर्क में हैं और हमारे स्वास्थ्य मंत्री भी इस ओर ध्यान दे रहे हैं।


 

DO NOT MISS