General News

खनन घोटाला मामला : IAS बी चंद्रकला पर ED ने कसा शिकंजा, समन जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:


उत्तर प्रदेश में हुए खनन घोटाला मामले में सोशल मीडिया की सनसनी आईएएस बी चंद्रकला पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का शिकंजा कसता जा रहा है. प्रवर्तन निदेशालय ने कथित उत्तर प्रदेश खनन घोटाले के सिलसिले में हमीरपुर की पूर्व जिला कलक्टर बी. चंद्रकला समेत अन्य को समन किया है. पूछताछ अगले हफ्ते की जाएगी. 

बता दें आईएएस बी. चंद्रकला के लखनऊ स्थित घर पर आज सीबीआई ने छापेमारी की थी. सीबीआई की ये छापेमारी खनन से जुड़े घोटाले की जांच के लिए हुई थी. 

जानकारी के अनुसार खनन घोटाला मामले में आईएएस बी चंद्रकला को 24 जनवरी को बुलाया गया है. चंद्रकला से लखनऊ स्थित ईडी के दफ्तर में पूछताछ होगी. इसके साथ समाजवादी पार्टी के एमएलसी रमेश मिश्रा भी इस मामले में आरोपी है. ईडी ने नोटिस भेजकर रमेश मिश्रा को 28 जनवरी को पूछताछ के लिए बुलाया है.

ईडी के सूत्रों के अनुसार अवैध खनन मामले में चार लोगों को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा गया है. ईडी यह जांच यूपी के हमीरपुर वाले मामले में दर्ज एफआईआर के मुताबिक ही जांच करेगी. ईडी की टीम फिलहाल अवैध खनन से उगाहे गए करोड़ो रूपये की काली कमाई के ठिकाने ढूंढ रही है. ईडी फिलहाल 11 आरोपियों के खिलाफ इस मामले की पड़ताल कर रही है. 

यह भी पढ़े- Exclusive दस्तावेज : अवैध खनन मामले में नया मोड़- यूपी के पूर्व CM अखिलेश यादव ने आवंटित किए थे 11 माइंस

याद दिला दें कि सीबीआई ने 5 जनवरी को चंद्रकल के लखनऊ स्थित घर पर करीब दो घंटे तक छापेमारी की थी. इस दौरान वह घऱ पर नहीं थी. चंद्रकला पर गलत तरीके से खनन पट्टे देने का आरोप है. चंद्रकला बलुंदशहर , हमीरपुर , मथुरा , मेरठ और बिजनौर में डीएम रह चुकी हैं. 


अखिलेश यादव सरकार में आईएएस बी. चंद्रकला की पोस्टिंग पहली बार हमीरपुर जिले में जिलाधिकारी के पद पर की गई थी. आरोप है कि आईएएस ने जुलाई 2012 के बाद हमीरपुर जिले में 50 मौंरग के खनन के पट्टे किए थे. जबकि ई - टेंडर के जरिए यहां के पट्टों पर स्वीकृति देने का प्रावधान था लेकिन बी . चंद्रकला ने सारे प्रावधानों की अनदेखी की थी. 

यह भी पढ़े- अवैध खनन मामले में BJP ने अखिलेश यादव से पूछे तीखे सवाल, 'आपकी सरकार ने बी चंद्रकला को हमीरपुर का डीएम क्यों बनाया गया ?'

बी चंद्रकला तेलंगाना के करीमनगर जिले की रहने वाली है. वह 2008 की यूपी काडर आईएएस हैं. वह तेज तर्रार छवि की अधिकारी मानी जाती है. वह सोशल मीडिया पर छाई रहती है.

DO NOT MISS