General News

विदेश मंत्री एस जयशंकर प्रसाद ने कहा ''सबका साथ, सबका विकास' विदेश नीति पर भी लागू होता है''

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

रिपब्लिक समिट के दूसरे दिन राजनीतिक हस्तिय़ों से लेकर सितारों का भी तड़का लगा रहा। इसी क्रम में विदेश मंत्री एस जयशंकर प्रसाद ने भी रिपब्लिक समिट में शिरकत की।  रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चिफ अर्नब गोस्वामी से बात करते हुए जयशंकर ने तमाम मु्द्दों पर पर अपनी राय रखी।

उन्होंने कहा मैं लोगों को बताता हूं कि यह 'सबका साथ, सबका विकास' विदेशी नीतियों में और भी अधिक लागू होता है। मुझे हर किसी के साथ मिलना होता। उन्होंने कहा कि मेरा रूस के साथ एक मजबूत रिश्ता है, और यह एक पुराना है। यह मेरे लिए काफी मायने रखता है। ये ऐसे मुद्दे हैं जो हम राष्ट्रीय हित के लिए करेंगे। मुझे लगता है कि उन्हें इन चीजों को स्वीकार करने की आवश्यकता है। " 


पाकिस्तान से बाचतीच को लेकर विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा मुझे दुनिया में एक देश दिखा दो जो खुले तौर पर अपने पड़ोसी देश के साथ सीमा पार से आतंवाद फैलाता है। पाकिस्तान कहता है कि मैं यह करूंगा , तुम नहीं कर सकते है। पाकिस्तान जब तक सिमा पार से आंतकवाद बंद नहीं कर देता तब तक उससे कोई बातचीत नही ंहोगी। 26/11 के बाद बहुत बहस हुई और उसके बाद  कुछ नहीं हुआ। यूपीए और मोदी सरकार के पाकिस्तान के दृष्टिकोण के बीच अंतर के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि आज हमारे पास पाकिस्तान के बारे में स्पष्टता है जो हमारे पास पहले नहीं थी।"

डोनाल्ड ट्रंप के अप्रत्याशित स्वभाव और कश्मीर के लिए मध्यस्थता पर उनके बयान पर बोलते हुए जयशंकर ने कहा कि यह उनका अपना तरिका है। 

 

DO NOT MISS