General News

अगस्ता वेस्टलैंड पर R. भारत के ख़ुलासे पर बोले प्रकाश जावड़ेकर, 'ये बहुत अहम ख़ुलासा है, मुझे विश्वास है कोर्ट इसपर संज्ञान लेगा'

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

अगस्ता वेस्टलैंड डील से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस मे गुरुवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में प्रवर्तन निदेशालय ने क्रिश्चिचन मिशेल के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल किया। रिपब्लिक भारत के पास चार्जशीट की एक्सक्लूसिव दस्तावेज मौजूद है। इसमें दलाल मिशेल ने अपने गुनाह के सारे राज़ उगले है। इसी बीच अगस्ता वेस्टलैंड पर रिपब्लिक भारत के ख़ुलासे केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि ये बहुत अहम ख़ुलासा है और मुझे विश्वास है कोर्ट इसपर संज्ञान ले।

जावड़ेकर ने आगे दावा किया कि उन्होंने उस रिपोर्ट के खिलाफ तत्कालीन रक्षा मंत्री एके एंटनी को पत्र लिखा था।

उन्होंने कहा, "यह रिपब्लिक द्वारा किया गया एक बहुत ही महत्वपूर्ण खुलासा है और जिस तरह से गवाही आई है और पूरक आरोप पत्र दायर किया गया है, मुझे विश्वास है कि अदालत तर्कसंगत निर्णय लेगी क्योंकि यह स्पष्ट है कि अगस्ता वेस्टलैंड के दौरान और समय के दौरान कांग्रेस, हर रक्षा सौदे में एक बिचौलिया था और मैंने उस समय एंटनी को एक पत्र लिखा था। उन्होंने जो रिपोर्ट जमा की थी उसके खिलाफ मैंने पत्र लिखा था और यह साफ है कि अगस्ता वेस्टलैंड मामले में भ्रष्टाचार था।"

इससे पहले केसी त्यागी ने कहा ये बहुत सनसनीखेज और बहुत महत्वपूर्ण मामला है और ईडी के दस्तावेजों में महानुभवों के नामो का उल्लेख है तो ये कांग्रेस पार्टी के चुनाव के मौके पर ये बम ब्लास्ट जैसा है ईडी और सीबीआई अपने कामो।में लगे हुए है मिशेल उसमे एक महत्वपूर्ण कड़ी है उसके द्वारा दिये गए वक्तव्य महत्वपूर्ण है।  

मामले में सनसनीखेज खुलासे करते हुए दलाल मिशेल ने यह भी माना की उसने डील के लिए 18.2 मिलियन यूरो की दलाली ली। सौदे में कुल 70 मिलियन यूरो की दलाली दी गई थी। साथ ही चार्जशीट में ईटेलियन लेडी के बेटे से मिलने की बात है, जो आने वाले समय में भारत का पीएम बनेगा। 

इसपर केसी त्यागी ने कहा ये तो सीधे सीधे जो कांग्रेस पार्टी का जो शीर्ष नेतृत्व है उसकी तरफ इशारा है और ये सारे मामले कोर्ट में है लिहाज़ा अदालत के फैंसले की हमे प्रतीक्षा रहेगी ।

चार्जशीट के अनुसार मिशेल के लिए दलाली करने के लिए कांग्रेस के बड़े मंत्रियों के संपर्क में थे। पीएम के साथ मीटिंग दलाल फ़िक्स करते थे।  उसने माना की दलाल सीसीएस की मीटिंग भी फिक्स करवाते थे।

DO NOT MISS