PC-PTI
PC-PTI

General News

शाहीन बाग विरोध प्रदर्शन से चुनावी प्रक्रिया में बाधा आती है तो उचित कार्रवाई करेंगे: दिल्ली पुलिस

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:


संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ शाहीन बाग में पिछले एक महीने से चल रहे विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने बुधवार को कहा कि अगर विधानसभा चुनाव प्रक्रिया में विरोध प्रदर्शन की वजह से बाधा पहुंचने की कोई शिकायत आती है तो वह उचित कार्रवाई करेगी।

विशेष पुलिस उपायुक्त (चुनाव) प्रवीण रंजन ने कहा कि पुलिस को अभी चुनावी प्रक्रिया में शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों द्वारा बाधा पहुंचाए जाने के संबंध में कोई शिकायत नहीं मिली है।

महिलाओं और बच्चे समेत हजारों प्रदर्शनकारी 15 दिसंबर से शाहीन बाग और जामिया मिल्लिया इस्लामिया के निकट सीएए और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ धरना दे रहे हैं।

रंजन ने कहा कि पुलिस पहले ही प्रदर्शनकारियों से जगह खाली करने की अपील कर चुकी है। वहीं उप राज्यपाल अनिल बैजल ने बुधवार को स्कूली बच्चों, मरीजों और आम लोगों को पेश आ रही समस्याओं को देखते हुए प्रदर्शनकारियों से यह धरना खत्म करने की अपील की।

वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य विजय गोयल ने शाहीन बाग में नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ प्रदर्शन को ‘‘सुरक्षा के लिए खतरा’’ बताया और कहा कि यह गुमराह लोगों द्वारा आयोजित किया जा रहा है।

दक्षिण-पूर्व दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले एक महीने से ज्यादा समय से सीएए के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है। पिछले साल 15 दिसंबर को जामिया नगर में सीएए विरोधी हिंसक प्रदर्शन के ठीक बाद यह प्रदर्शन शुरू हुआ था।

गोयल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘शाहीन बाग में जो हो रहा है वह सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा है। वो कौन होते हैं बताने वाले कि एंबुलेंस या बस सड़क से गुजर सकती है या नहीं। ’’


शाहीन बाग में प्रदर्शन के कारण बदरपुर, कालिंदी कुंज और दक्षिणीपूर्व दिल्ली के अन्य इलाकों को नोएडा से जोड़ने वाला यातायात प्रभावित हुआ है।

उन्होंने कहा, ‘‘इतने दिनों से सड़क को बाधित कर, लोगों को दफ्तर और बच्चों को स्कूल जाने से रोक कर जिस तरह कानून व्यवस्था का वो मजाक उड़ा रहे हैं , यह सुरक्षा को खतरा है। ’’


दिल्ली पुलिस की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस बल ने सुरक्षा खतरे को बड़ा बनने से रोक दिया है । गोयल ने कहा कि सड़क बंद होने के कारण इलाके में करोड़ों रुपये का कारोबार और आम जनजीवन प्रभावित हुआ है।