General News

दिल्ली पुलिस की कोरोना हेल्पलाइन, जिसपर फोन करने पर मिलेगा हर समस्या का हल

Written By Rajneesh Sharma | Mumbai | Published:

कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले एक दिन का जनता कर्फ्यू लगाया जिसके सफल होने के बाद 21 दिनों के लिए पूरे देश को लॉक डाउन कर दिया है। ताकि लोग एक दूसरे के सम्पर्क में कम से कम आये। हालांकि लोगों की ज़रूरतों को देखते हुए रोज़मर्रा की ज़रूरतों की सेवओं को इस लॉक डाउन से अलग रखा है। लेकिन बाकी सभी सेवओं पर इस दौरान पूरी तरह से रोक लगा दी है। हालांकि लोगों की बात मानें तो इस लॉक डाउन में लोगों को कई परेशानियों से भी दो चार होना पड़ रहा है। लोगों की इन्हीं परेशानियों को हल करने के लिए दिल्ली पुलिस ने एक हेलप्लाइन नंबर 01123469526 जारी किया है। जिस पर महज़ एक फ़ोन करके दिल्लीवासी अपनी परेशानियों का हल मिल भी रहा है।


डीसीपी आसिफ़ मोहम्मद की बात मानें जो इस हेल्पलाइन सर्विस को हेड कर रहे है तो, उनके मुताबिक लोगों की परेशानियों को देखते हुए ही ये कदम उठाना पड़ा, ताकि लोगों को उनकी परेशानियों का घर बैठे ही हल मिल जाए।डीसीपी आसिफ़ मोहम्मद के मुताबिक इस हेल्पलाइन को 26 मार्च को रात 8 बजे शुरु किया था। तब से लेकर अब तक इस हेल्पलाइन पर करीब 1700 लोगों ने फोन कर अपनी परेशानियां साझा की सन्तुष्टि की बात ये है कि लगभग सभी कि परेशनियों को हल किया गया है। इस हेल्पलाइन के दफ्तर की बात की जाए तो इस हेल्पलाइन की सर्विस मान सिंह रोड पर बने दिल्ली पुलिस मुख्यालय से ऑपरेट की जा रही है। इस हेल्पलाइन को एक एसीपी और एक इंस्पेक्टर सुपरविजन कर रहे है इन्ही के अंडर 6 अन्य पुलिसकर्मी है जो की सब इंस्पेक्टर, एएसआई और कंस्टेबल है। जो डीसीपी आसिफ मोहम्मद को रिपोर्ट करते है।


इस हेल्पलाइन के काम करने के तरीके की बात करें तो इस हेल्प लाइन में 18 पुलिस कर्मी राउंड द क्लॉक 24 घण्टे काम कर रहे है जो शिफ्ट में काम करते है। डीसीपी आसिफ़ मोहम्मद की बात मानें तो जैसे है दिल्ली का कोई निवासी हेल्पलाइन पर कॉल करके अपनी परेशानी बताता ही तो उसका नाम, नम्बर और पता नोट किया जाता है। जिसके बाद परेशानी को बहुत ध्यान से सुना जाता है अगर परेशानी ऐसी हो कि पीड़ित को सलाह की ज़रूरत है, तो फोन पर ही उसकी कॉउंसलिंग कर परेशानी दूर की जाती है चाहे उसमे कितना ही वक़्त क्यो न लग जाये। वहीं अगर परेशानी ऐसी हो कि पीड़ित के पास जाकर हल करने के अलावा कोई दूसरा रास्ता न हो तो उसकी डिटेल नोट कर उसी के जिले के एडिशनल डीसीपी को बताया जाता है, जिस जिले में पीड़ित रहता है। जिसके बाद एडिशनल डीसीपी खुद या अपने स्टाफ को भेजकर परेशानी का हल करने का प्रयास करता है


बात की जाए परेशानियों की तो डीसीपी आसिफ़ मोहमद मुताबिक लोग कई तरह की परेशानियां बताते है जैसे किसी के घर मे खाने का सामान नही है वो बाहर लेने भी नही जा सकता, या फिर किसी को एक राज्य से दूसरे राज्य जाना है, या फिर किसी की अचानक तबियत खराब हो जाये तो कैसे वो अपनी गाडी ज सकता है या फिर किसी और तरह की परेशानी ऐसी कॉल आ रही है। इस हेल्पलाइन का मक़सद है कि लॉक डाउन के दौरान किसी भी दिल्लीवासी को किसी भी तरह की परेशानी न हो। ताकि लॉक डाउन के नियमों का सख्ती से पालन तो कराया ही जा सके बल्कि लोगों को इस दौरान परेशनिक भी सामना न करना पड़े।

DO NOT MISS