General News

J&K से DSP देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी को कांग्रेस ने दिया धार्मिक रंग, कहा- 'गिरफ्तारी पर RSS चुप क्यों?'

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कश्मीर घाटी में पुलिस अधिकारी दविंदर सिंह की दो आतंकवादियों के साथ गिरफ्तारी को लेकर मंगलवार कहा कि पुलवामा हमले की नए सिरे से जांच की जरूरत है।

चौधरी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अगर इत्तेफाक से दविंदर सिंह का नाम दविंदर खान होता तो आरएसएस की ट्रोल रेजीमेंट की प्रतिक्रिया ज्यादा तीखी और मुखर होती। वर्ण, मत और संप्रदाय से इतर देश के दुश्मनों की निंदा होनी चाहिए।’’

उन्होंने दावा किया, ‘‘घाटी में इस कमजोरी का खुलासा हुआ है वो हमें परेशान करने वाली है।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘अब सवाल यह पैदा होता है कि पुलवामा हमले के पीछे के असली गुनाहगार कौन हैं? इस मामले पर नए सिरे से जांच की जरूरत है।’’

इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ देवेंद्र सिंह कौन है? 2001 के संसद हमले में उसकी क्या भूमिका थी? पुलवामा हमले में उसकी क्या भूमिका थी जहां वह पुलिस उपाधीक्षक था?’’

उन्होंने सवाल किया, ‘‘क्या वह हिज्बुल आतंकियों को खुद लेकर जा रहा था या सिर्फ एक प्यादा है तथा बड़े साजिकशकर्ता कहीं और हैं? क्या एक बड़ी साजिश है?’’

जम्मू-कश्मीर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी दविंदर सिंह को दो आतंकवादियों को अपनी कार में कश्मीर घाटी ले जाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है।

कश्मीर पुलिस के महानिरीक्षक (आईजी) विजय कुमार ने रविवार को कहा कि यह “घृणित अपराध” है और दविंदर सिंह के साथ आतंकवादियों जैसा ही सलूक किया जा रहा है और सभी सुरक्षा एजेंसियां संयुक्त रूप से उससे पूछताछ कर रही हैं।