General News

कांग्रेस ने मुंबई हमले के बाद कोई कार्रवाई नहीं की : PM मोदी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर मुंबई हमले के बाद कार्रवाई करने में असफल रहने का आरोप लगाया।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए 21 अक्टूबर को होने वाले मतदान से पहले राज्य में आखिरी चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र और महाराष्ट्र सरकार की ओर से किए गए आर्थिक सुधार पर भी चर्चा की और कहा कि उन पर ‘भ्रष्टाचार के दाग’ नहीं है।

मोदी ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार में आतंकवादी हमले और बम धमाके कभी भी मुंबई में हो सकते थे और मुंबई का समुद्र तट आतंकवादियों के लिए प्रवेश द्वार बन गया था।

उन्होंने कहा,‘‘अब वह स्थिति नहीं है। क्यों? क्योंकि जो आतंकवाद का पोषण करते हैं वे जानते हैं कि उन्हें सजा मिलेगी।’’

मोदी ने उरी और पुलवामा हमले के बाद क्रमश: सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट हवाई हमले का संदर्भ देते हुए कहा कि वह केवल शब्द नहीं भाजपा एवं उसके सहयोगियों की नीति है।

उन्होंने कहा, ‘‘ आतंकवादी हमले के बाद जांच एजेंसियों को मिले सबूत से साफ हो गया कि इसका सरगना सीमा पार है, लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस सरकार ने कहा कि यह हमला देश में मौजूद लोगों का काम है।’’

विपक्ष पर हमला करते हुए मोदी ने कहा कि उन्होंने दशकों तक जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 का पोषण किया।

मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने अपने हित की राजनीति की और यहां तक कि कश्मीर में लोगों को उनके अधिकारों से वंचित किया गया।

उन्होंने सवाल किया कि क्यों ऐसा हुआ है कि ऐसी हिंसा के पीड़ितों को न्याय देने के बजाय कांग्रेस ने आतंकवादियों का बचाव किया।

मुंबई में 1993 में हुए बम धमाके को याद करते हुए तत्कालीन सरकार पर पीड़ितों के साथ न्याय नहीं करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, ‘‘जिन लोगों ने हमारे लोगों को मारा वे बच कर निकल गए और उसकी वजह अब सामने आ रही है। वे लोग दोषियों को पकड़ने के बजाय मिर्ची से व्यापार करने में लगे रहे। कुछ समय वे मिर्ची का व्यापार करते थे और कुछ समय मिर्ची से कारोबार करते हैं।’’ हालांकि, इस दौरान उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया।


मोदी ने कहा, ‘‘ दोषियों को पकड़ने के बजाय उनके साथ कभी मिर्ची का व्यापार, कभी मिर्ची के साथ व्यापार।’’

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि मिर्ची के साथ व्यापार’ संबंधी टिप्पणी राकांपा नेता प्रफुल्ल पटेल को प्रर्वतन निदेशालय (ईडी) की ओर से शुक्रवार को समन करने के संदर्भ में थी। ईडी ने माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम के करीबी इकबाल मिर्ची से जुड़े धनशोधन के मामले में पूछताछ के लिए पटेल को समन किया था।

मोदी ने मुंबई को ‘अवसरो का शहर’ बताते हुए कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य में स्थिर सरकार दी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि फडणवीस सरकार ने शहर के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जबकि पिछली कांग्रेस-राकांपा सरकार भ्रष्ट थीं।

उन्होंने कहा, ‘‘ हमारी सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी दाग नहीं है। हम सभी के सपनों को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं चाहे वे किसान हो या फिर स्टार्टअप शुरू करने वाले। अधिकतर सेवाओं को ऑनलाइन किया गया जिससे भ्रष्टाचार घटा।’’ मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों ने भ्रष्टचारियों के सपनों को साकार करने का काम किया।

DO NOT MISS