General News

'ममता जिंदाबाद' से कथित इनकार से भड़के TMC समर्थक, सारेआम कर दी कॉलेज के शिक्षक की पिटाई

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में कथित रूप से ‘जय ममता’’ और ‘तृणमूल जिंदाबाद’ के नारे लगाने को लेकर, छात्रों के दो गुटों में हुए झगड़े में बीच बचाव कराने के दौरान एक कॉलेज शिक्षक के साथ धक्का-मुक्की की गई तथा मुंह पर मुक्के मारे गए। 

पुलिस ने बताया कि सुब्रत चटर्जी पर हमला करने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वे नबग्राम हीरालाल पॉल कॉलेज के छात्र नहीं हैं जहां बुधवार को यह घटना घटी थी।

टीवी चैनलों ने दृश्य दिखाएं हैं कि जब चटर्जी कुछ छात्राओं के साथ कॉलेज के दरवाजे से बाहर निकले तो दो युवक डराने वाले अंदाज में उनकी ओर बढ़ रहे हैं। 

यह भी पढ़ें - केंद्रीय एजेंसियां दे रहीं तृणमूल नेताओं को धमकी, BJP में शामिल होने का डाल रहीं दबाव: ममता बनर्जी

दोनों युवक शिक्षक को धक्का देते हुए तथा उनके सिर और मुंह पर मुक्के मारते हुए दिख रहे हैं। इसके बाद चटर्जी जमीन पर गिर जाते हैं तथा कुछ लड़कियां उनके मुंह पर पानी छिड़कती हैं और पीने के लिए पानी देती दिख रही हैं।

कॉलेज सूत्रों ने बताया कि कॉलेज परिसर से संचालित होने वाले नेताजी मुक्त विश्वविद्यालय की परास्नातक की कुछ छात्राएं एक क्लासरूम में सेल्फी ले रही थी। तभी टीएमसी के कुछ सदस्यों ने उनसे वहां चले जाने को कहा जिसे लेकर दोनों पक्षों के बीच बहस हो गई।

यह भी पढ़ें - ममता का 70% मुस्लिम छात्रों वाले स्कूलों में डाइनिंग हॉल बनाने का आदेश; BJP ने लगाया तुष्टिकरण का आरोप

छात्राओं ने वहां से जाने से इनकार किया और तो टीएमसी के छात्रों ने मुख्यमंत्री और उनकी पार्टी के पक्ष में नारे लगाने को कहा लेकिन उन्होंने इससे भी इनकार कर दिया। 

छात्राओं ने दावा किया कि टीएमसी के समर्थकों ने उन पर हमला किया और उन्हें क्लासरूम में बंद कर दिया।

तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय विधायक पी घोषाल ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा, ‘‘ यह कानून व्यवस्था का मसला है। मैंने स्थानीय थाने से जरूरी कार्रवाई करने का अनुरोध किया है।’’ 

 

DO NOT MISS