General News

CM योगी का मायावती और अखिलेश पर निशाना, कहा - सपा-बसपा गठबंधन का हो चुका है 'तलाक'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा—बसपा गठबंधन पर चुटकी लेते हुए बुधवार को कहा कि गठबंधन का 'तलाक' हो चुका है और जनता ने गठबंधन के दुष्प्रचार को कोई तवज्जो नहीं दी। योगी ने विधानसभा में वर्ष 2019-20 की अनुपूरक मांगों पर चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए कहा, 'लोग बडे़-बडे़ दावे करते थे। बड़ी-बड़ी घोषणाएं लोग करते थे... गठबंधन का तलाक पहले ही हो चुका है।'

उन्होंने कहा, 'मैंने तब भी इस बात को बार-बार कहा था कि हमें इस बात की परवाह नहीं होनी चाहिए कि कौन गठबंधन का रहा है और कौन महागठबंधन कर रहा है।' योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता ने विकास की लाज बचाई है और कह दिया कि जो विकास नहीं करेगा, उसके साथ जनता नहीं होगी। उसे झूठी घोषणाओं, नारों, धरने, प्रदर्शन और राजनीति से मतलब नहीं है।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के महापर्व (लोकसभा चुनाव) में उत्तर प्रदेश में एक लाख 63 हजार बूथों पर चुनाव हुए। एक भी बूथ पर पुनर्मतदान नहीं हुआ।

योगी ने कहा, 'जनता ने सभी दीवारों को तोड़ा...जाति, मत, मजहब और क्षेत्र... लोकतंत्र को सही मायने में उत्तर प्रदेश में स्थापित किया। सात चरण में हमारे यहां कोई हिंसा नहीं हुई जबकि पश्चिम बंगाल में हर चरण में भीषण हिंसा हुई। व्यापक नरसंहार भी हुआ।' 

वहीं उत्तर प्रदेश को एक हजार अरब डालर (एक ट्रिलियन डालर) की अर्थव्यवस्था बनाने का संकल्प व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि राज्य में संसाधनों की कोई कमी नहीं है लेकिन इस लक्ष्य को पाने के लिये वक्त की रफ्तार से तेज चलना होगा और अथक प्रयास करने होंगे।

योगी ने यहां विधानसभा में वित्त वर्ष 2019—20 की प्रथम अनुपूरक मांगों पर हुई चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए कहा, 'इन्वेस्टर्स समिट के समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लक्ष्य रखा था कि उत्तर प्रदेश एक ट्रिलियन डालर की इकॉनोमी कब बनेगा ... हमें ये चुनौती स्वीकारनी चाहिए।'

उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश को पांच वर्ष में एक हजार अरब डालर (69,00,000 करोड़ रुपये) की इकॉनोमी बनना है तो प्रदेश को अलग अलग कार्यक्षेत्रों में आने वाले पांच वर्ष के लिए एक लक्ष्य तय करना होगा। कम से कम 70 हजार करोड रूपये से लेकर एक लाख करोड रूपये के निवेश की व्यवस्था अलग अलग क्षेत्रों में करनी होगी। तब जाकर इतने कम समय में ये लक्ष्य प्राप्त हो सकता है।’’

योगी ने कहा, 'लक्ष्य बडा है लेकिन असंभव नहीं है, संभव है और उसे प्राप्त किया जा सकता है।' उन्होंने कहा कि हम छोटी छोटी चीज में राजनीति करने लगते हैं। हम हर चीज को राजनीतिक नजरिये से देखने लगते हैं। कम से कम अपनी सोच को बदलने की आवश्यकता है ।

योगी ने कहा, 'स्थायी और समेकित विकास हो सके, उस दिशा में क्या प्रयास किये जाने हैं। इस पर की जाने वाली पहल को आगे बढाने की आवश्यकता है। ... उत्तर प्रदेश की इकनोमी, हमारी जो जीडीपी है ... वह केवल 15 लाख 42 हजार 432 करोड रूपये है। हमें अगर इसे बढाना है एक हजार अरब डालर (करीब 69 लाख करोड़ रुपये) पर पहुंचाना है तो मुझे लगता है कि इसके लिए बहुत बड़े प्रयास करने होंगे।' उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश अगर एक ट्रिलियन डालर की इकानामी बनेगा तो राज्य का विकास होगा। साथ ही यह यहां की 23 करोड जनता और आने वाली पीढी के भविष्य के लिए यह आवश्यक भी है।

(इनपुट- भाषा )

DO NOT MISS