General News

डॉक्टरों की मांग के आगे झुकीं ममता, बैठक की लाइवटेलिकास्ट पर सहमत हुईं मुख्यमंत्री

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रदर्शनकारी जूनियर डॉक्टरों के साथ सोमवार को प्रस्तावित बैठक के सीधे प्रसारण (लाइव कवरेज) के लिए सहमति दे दी है। इससे हफ्ते भर से जारी गतिरोध सुलझने का रास्ता साफ हो गया है।

पहले राज्य सरकार ने बैठक के सीधे प्रसारण की हड़ताली डॉक्टरों की मांग ठुकरा दी थी। यह बैठक आज ही होनी है।

राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘मुख्यमंत्री बैठक के सीधे प्रसारण की मांग पर सहमत हो गई हैं।’’ 

यह बैठक हावड़ा में राज्य सचिवालय से सटे एक सभागार में होगी।

समूचे पश्चिम बंगाल के जूनियर डॉक्टर स्थानीय एनआरएस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में कार्यरत अपने दो सहकर्मियों पर हुए हमले के विरोध में हड़ताल पर हैं। आरोप है कि दोनों जूनियर डॉक्टरों पर एक मरीज के परिजन ने हमला किया था। उस मरीज की पिछले सप्ताह मौत हो गई थी।

जूनियर डॉक्टर फोरम के प्रवक्ता ने कहा कि हम अपनी मांगों को लेकर सरकार से बातचीत करने को तैयार हैं,  मुख्यमंत्री स्थान तय करें लेकिन बातचीत के दौरान मीडिया कवरेज की इजाजत दी जानी चाहिए। इससे पहले फोरम ने  बंद कमरे में बातचीत करने के मुख्यमंत्री के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। 

एम्स ने अनिश्चितकालीन हड़ताल का किया ऐलान..आईसीयू और इमरजेंसी को हड़ताल से किया बाहर..सुरक्षा के लिए केंद्रीय कानून बनाने की उठाई मांग

पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के साथ हिंसा के बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन :आईएमए: के आह्वान पर राजधानी  लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई, किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी और लोहिया संस्थान के सैकड़ों रेजीडेंट डॉक्टर 24 घंटे की हड़ताल पर हैं ।

यहीं नहीं, शहर के करीब चार हजार प्राइवेट डॉक्टर भी हड़ताल पर हैं । सरकारी संस्थानों में नये मरीज भर्ती नहीं किये जा रहे हैं, ऑपरेशन नहीं हो रहे हैं, केवल ओपीडी में पुराने रोगियों को ही वरिष्ठ डॉक्टर देख रहे हैं । प्राइवेट अस्पतालों में केवल उन मरीजों को ही देखा जा रहा है जो पहले से अस्पताल में भर्ती हैं । वहां न नये मरीज भर्ती किये जा रहे हैं और न ही ओपीडी में मरीजों को देखा जा रहा है ।

रेजीडेंट डॉक्टरों और प्राइवेट डॉक्टरों की इस हड़ताल के कारण दूसरे सरकारी अस्पतालों में मरीजों की संख्या में 35 से 40 फीसदी तक बढ़ोत्तरी हो गयी है । 
 

DO NOT MISS