General News

चंद्रयान-2 को लेकर अच्छी खबर 'लैंडर विक्रम में कोई टूट-फूट नहीं'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

चंद्रयान 2 को लेकर अच्छी खबर सामने आई है। चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम में कोई टूट-फूट नहीं हुई है।  इसरो ने बताया कि ऑर्बिटर द्वारा भेजे गए चित्र के अनुसार लैंडर एक टुकड़े के तौर पर दिखाई दे रहा है। इसरो की टीम चंद्रयान -2 के लैंडर विक्रम से संपर्क करने की कोशिश कर रहा है।

इसरो के वैज्ञानिकों के अनुसार लैंडर विक्रम एक तरफ झुका दिखाई दे रहा है। ऐसे में कम्युनिकेशन लिंक वापस जोड़ने के लिए यह बहुत जरूरी है कि लैंडर का ऐंटीना ऑर्बिटर या ग्राउंड स्टेशन की दिशा में हो। इसरो के अनुसार जियोस्टेशनी ऑर्बिट में गुम हो चुके स्पेस क्रॉफ्ट का पता लगाया है हालांकि यह लैंडर से बिलकुर अलग है।  

इससे पहले इसरो चीफ के सिवन ने न्यूज एजेंसी से बात करते हुए आत्मविश्वास के साथ कहा कि जल्द ही ऑर्बिटर लैंडर विक्रम से संपर्क स्थापित कर लेगा। उन्होंने कहा कि ऑर्बिटर ने लैंडर विक्रम की थर्मल तस्वीर ली है। लेकिन अभी तक संपर्क स्थापित नहीं हो पाया है। हम लैंडर से जल्द संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं। 

बता दें शनिवार तड़के सुबह इसरो लैंडर से संपर्क उस समय टूटा, जब विक्रम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाले स्थान से 2.1 किलोमीटर दूर रह गया था।  जिससे वह रास्ता भटककर अपने निर्धारित जगह से लगभग 500 मीटर की दूरी पर चंद्रयान की सतह से टकरा गया था। 

जिसके बाद  इसरो ने रविवार को चांद पर विक्रम लैंडर की सही स्थिति का पता लगा लिया। ऑर्बिटर ने थर्मल इमेज कैमरा से उसकी तस्वीर ली है। हालांकि, इसरो का लैंडर विक्रम से कोई संपर्क स्थापित नहीं हो पाया है। जानकारी के अनुसार विक्रम लैंडर लैंडिंग वाली तय जगह से कुछ दूर पर पड़ा है। चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर में लगे हाई रिजोल्यूशन वाले ऑप्टिकल कैमरे से लैंडर विक्रम की तस्वीर ली गई है।


 

DO NOT MISS