Pc - ANI
Pc - ANI

General News

नक्सलियों को हथियार बेचने के आरोप में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल का जवान गिरफ्तार

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में पुलिस ने नक्सलियों को हथियार बेचने के आरोप में छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के जवान और उसके सहयोगी को गिरफ्तार किया है. 

दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को न्यूज एजेंसी को फोन पर बताया कि जिले की पुलिस ने छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल की 10 वीं बटालियन (ई कंपनी) के जवान राजू कुजूर और उसके साथी मिठ्ठे नेताम को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों पड़ोसी जिला बीजापुर के भैरमगढ़ थाना क्षेत्र के अंतर्गत ओरसा गांव के निवासी हैं. 

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल की 10वीं बटालियन की ई कंपनी दंतेवाड़ा जिले के बारसूर थाना क्षेत्र में तैनात है. 

पिछले दिनों कंपनी में दो एसएलआर रायफल और चार मैग्जीन के बारे में चोरी होने की सूचना मिली थी। सूचना के बाद पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की . इस दौरान पुलिस ने भैरमगढ़ क्षेत्र में नदी के किनारे से हथियार और मैग्जीन बरामद कर लिया था .

बाद में पुलिस को कुजूर पर संदेह हुआ और उसके फोन काल डिटेल की छानबीन की गई. उससे जब इस संबंध में पूछताछ की गई तब उसने अपना अपराध कबूल कर लिया.  कुजूर ने बताया कि उसने ही नक्सलियों को बेचने के लिए हथियारों की चोरी की थी.

मामले की छानबीन के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि कुजूर पिछले पांच वर्षों से नक्सलियों को कारतूस बेच रहा था . लेकिन पहली बार उसने पैसे के लिए हथियारों की चोरी की है .

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जवान ने दो एसएलआर रायफल की चोरी की थी तथा उसे वह ढाई लाख रूपए और तीन लाख रूपए में बेचना चाह रहा था . वहीं, एक राउंड कारतूस को वह पांच सौ रूपए में बेचने वाला था .

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कुजूर का दोस्त नेताम कुरियर के रूप में काम कर रहा था. वह कुजूर से हथियार लेकर नक्सलियों को देने वाला था.

उन्होंने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है तथा जवान कुजूर के बैंक खाते की भी जांच की जा रही है.

अधिकारियों ने बताया कि यह पहली बार है कि नक्सलियों को हथियार और कारतूस मुहैया कराने के आरोप में पुलिस जवान को गिरफ्तार किया गया है. यह गंभीर मामला है.

उन्होंने बताया कि कुजूर से पूछताछ के दौरान जानकारी मिली है कि बीजापुर और दंतेवाड़ा जिले के कुछ पुलिस जवान इस मामले में शामिल हो सकते हैं.  जांच के बाद इस मामले में और भी गिरफ्तारी हो सकती है.

( इनपुट - भाषा से )

DO NOT MISS