General News

शाहीन बाग प्रदर्शन के 'मास्टरमाइंड' के खिलाफ एक्शन में असम सरकार, सरजील के खिलाफ होगा केस दर्ज

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

असम के एक मंत्री ने शनिवार को कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था को बाधित करने के 'मकसद' से की गई 'राजद्रोही' टिप्पणी के लिए राज्य सरकार दिल्ली में शाहीनबाग प्रदर्शन के पीछे कथित तौर पर मुख्य रणनीतिकार के खिलाफ मामला दर्ज करेगी।

असम के वित्त मंत्री हेमंत विश्व सरमा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि शरजिल इस्लाम को एक ऑडियो क्लिप में यह कहते हुए सुना जा सकता है कि राज्य को शेष भारत से काटा जाए और कड़ा सबक सिखाया जाए।

सरमा ने कहा, ' असम सरकार ने इस राजद्रोह वाले बयान का संज्ञान लिया है और इस व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।'


उन्होंने कहा, ' इस व्यक्ति ने बहुत सी गलत चीज़े बोली हैं, जिसका लक्ष्य असम में कानून एवं व्यवस्था की समस्या उत्पन्न करना है। हम इस व्यक्ति को अदालत में लाएंगे ताकि उसे कानून के मुताबिक सज़ा मिले।'

दिल्ली में जामिया मिल्लिया इस्लामिया के पास शाहीन बाग में संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजी के खिलाफ 15 दिसंबर से महिलाएं और बच्चों समेत हज़ारों लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।

शाहीन बाग के 'मास्टरमाइंड' सरजील इमाम ने कहा, "असम को देश से अलग करना हमारी जिम्मेदारी"

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने शनिवार को एक वीडियो साझा किया, जिसमें जेएनयूएसयू के पूर्व सदस्य और शाहीन बाग समन्वय समिति के प्रमुख शारजील इमाम ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में मुसलमानों को निर्देश दिया कि वे रेलवे को अवरुद्ध करके भारत से असम को काटें।

एनआरसी से बहिष्कार के कारण राज्य के शिविरों में असम के मुसलमानों को हिरासत में लेने का दावा करते हुए, इमाम ने मुसलमानों को 'अपने गुस्से का इस्तेमाल करने' के लिए उकसाया। यह कहते हुए कि केंद्र को उनकी बात सुनने का यही एकमात्र तरीका है, उन्होंने मुसलमानों को असम में उथल-पुथल से बचने के लिए 'चक्का जाम' करने की सलाह दी ।

(इनपुट - भाषा से भी)

DO NOT MISS