General News

ओवैसी के लाल मिर्च वाले कटाक्ष पर बीजेपी का पलटवार, 'हमें लाल मिर्च की आदत है'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

 देश के आम बजट की छपाई शुरू होने से पहले होने वाली 'हलवा सेरेमनी' के नाम पर सियासत गरमा गई है। इसके बहाने एआईएमआईएम  प्रमुख सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि बीजेपी उन्हें हलवा समझने की भूल करती है, लेकिन वे हलवा नहीं लाल मिर्च हैं। ओवैसी ने बजट की छपाई प्रक्रिया से पहले होने वाले 'हलवा सेरेमनी' पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि हलवा तो अरबी शब्द है, लेकिन वित्त मंत्री उसकी पूजा कर रही थीं, क्या ये लोग इसका भी नाम बदल डालेंगे। 

इसपर  दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने पटलवार करते हुए कहा कि हम लाला मिर्च का प्रयोग करते हैं। ओवैसी को जवाब देते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि भाजपा लाल मिर्ची का प्रयोग करती है।'' 

बता दें नगर निगम चुनाव से पहले करीमनगर में एक सार्वजनकि रैली को संबोंधित करते हुए ओवैसी ने कहा था कि आप जानते हैं कि  बजट बनाने की प्रक्रिया कैसे शुरू होती है?  हलवा बनाकर। 

बीजेपी मुझे समझती है कि मैं हलवा हूँ?, लेकिन मैं लाल मिर्ची हूँ. इसके अलावा असद्दुदीन ओवैसी ने देश के गृह मंत्री अमित शाह को भी CAA समेत कई मुद्दों पर बहस करने की खुली चुनौती दी है.


आपको बता दें कि मोदी सरकार 2.0 का यह पहला बजट आने वाला है, सभी की निगाहें इस पर टिकी हुई हैं. ये बजट 1 फरवरी को आने वाला है. इस बजट के लिए हलवा सेरेमनी के साथ ही देश का बजट छपने की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। बीते सोमवार को नॉर्थ ब्लॉक स्थित, वित्त मंत्रालय के ऑफिस में हलवा सेरेमनी का प्रोग्राम रखा गया था।

बता दें हलवा सेरेमनी के समय उस दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, और केंद्रीय वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर समेत मंत्रालय के कुछ वरिष्ठ अधिकारी वहां मौजूद थे। वित्त मंत्रालय में  हलवे को लोहे की कड़ाही में बनाया गया था। 

इस सभी कर्मचारियों के साथ - साथ वित्तमंत्री को भी खाने के लिए परोसा गया। इस हलवे को खाने के बाद ही सभी अधिकारी और मंत्री दफ्तर में काम करने के लिए बंद हो जाते हैं।

यह भी पढ़े- शोएब अख्तर ने पाकिस्तान टीम की खोली पोल, कहा- 'दानिश कनेरिया के साथ हिंदू होने के वजह से किया जाता था भेदभाव'

DO NOT MISS