General News

कांग्रेस राज में आतंकी जब चाहे हमले करते थे, मोदी सरकार ने पाकिस्तान में घुसकर जवाब दिया : अमित शाह

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

झारखंड विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को कांग्रेस पर आरोप लगाया कि संप्रग सरकार के कार्यकाल में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवादी देश में जहां चाहे हमले करते थे और फरार हो जाते थे लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार में आतंकी हमलों के जवाब में भारतीय सेना ने पाकिस्तान में घुस कर करारा जवाब दिया जिससे उनकी चूलें हिल गयीं।

केन्द्रीय गृह मंत्री शाह ने आरोप लगाया, ‘‘कांग्रेस के राज में आतंकवादी आलिया, मालिया, बालिया आदि-आदि जब चाहे, जहां चाहे, देश में घुस आते थे और हमले करके फरार हो जाते थे। लेकिन जब से 2014 में देश की जनता ने नरेन्द्र मोदी की सरकार को केन्द्र की सत्ता सौंपी है उन्होंने देश की उचित रक्षा नीति तैयार की है। उसके तहत आतंकवादियों के सिर्फ दो बड़े हमलों के जवाब में देश की सेनाओं ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियों के खिलाफ जबर्दस्त हमले किये जिससे उनकी चूलें हिल गयीं।’’

शाह ने कहा, ‘‘कांग्रेस के शासनकाल में आतंकवादी जहां चाहे देश में घुसकर हमला करते थे और प्रधानमंत्री के मुंह से आवाज तक नहीं निकलती थी। लेकिन मोदी सरकार के कार्यकाल में जैसे ही उरी में भारतीय सेना के शिविर पर हमला हुआ हमारी सेनाओं ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किये और आतंकवादियों के तमाम अड्डे नष्ट कर दिये। इसी प्रकार जब आतंकवादियों ने 14 फरवरी, 2019 को पुलवामा में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की बस पर हमला कर हमारे जवानों को शहीद किया, तब हमारी वायु सेना ने एक बार फिर पाकिस्तान की सीमा में घुसकर बालाकोट समेत अनेक स्थानों पर आतंकी अड्डों पर हमले किये जिसमें बड़ी संख्या में आतंकी मारे गये।’’

उन्होंने कहा कि हमने पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की नीति अपनाई जिसके परिणाम सामने हैं और आज देश की जनता अपने को सुरक्षित महसूस करती है। आतंकवादियों की रुहें भी देश की सीमाओं में घुसने से कांपती हैं।

शाह ने कहा, ‘‘सेना के जवानों की जान हमें अपनी जान से भी अधिक प्यारी है। देश की उचित रक्षा नीति के चलते हमने न सिर्फ देश की सीमाओं की रक्षा की है बल्कि अपने जवानों के जीवन की भी रक्षा की है।’’

उन्होंने दोहराया कि इसी प्रकार केन्द्रीय गृह मंत्री ने कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए कहा, ‘‘कश्मीर समस्या का निदान मोदी सरकार ने ही किया। 70 साल से यह मामला लटका हुआ था। कांग्रेस ने अपनी वोट की राजनीति के चलते इसे कभी छुआ भी नहीं लेकिन हमारी सरकार ने 370 हटाकर वहां ना सिर्फ विकास का रास्ता खोला बल्कि आतंकियों के प्रवेश का द्वार भी बंद कर दिया।’’

उन्होंने कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से सवाल किया, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी यह बतायें कि आजादी के बाद 70 साल में कांग्रेस ने आदिवासियों के लिए क्या काम किए हैं?’’

शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने सिर्फ झारखंड को लूटा और उसे बर्बाद किया है जबकि भाजपा ने यहां विकास कार्य किये और लोगों की खुशहाली के नये रास्ते तैयार किये।

उन्होंने मनिका के बाद यहां भी रघुवर दास की पीठ थपथपाते हुए कहा कि यह श्रेय उनको ही जाता है जिनकी सरकार में राज्य से नक्सलवाद लगभग खत्म हो गया।

उन्होंने केन्द्र की मुद्रा योजना और आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि इनके माध्यम से राज्य के युवाओं और गरीबों का बड़ी संख्या में कल्याण किया गया है।

शाह ने हेमंत सोरेन से सवाल करते हुए कहा, ‘‘मैं हेमंत भाई से भी पूछना चाहता हूं कि आखिर उन्होंने यहां कांग्रेस के साथ गठबंधन कैसे किया? जिस सरकार ने झारखंड आंदोलन के दौरान आंदोलनकारियों पर गोलियां चलवायीं आखिर झामुमो उनका साथ कैसे दे सकता है?’’

उन्होंने लोहरदगा से भाजपा के प्रत्याशी सुखदेव भगत, विशुनपुर से भाजपा प्रत्याशी अशोक उरांव और गुमला से मिसिर कुजूर को विजयी बनाने की अपील करते हुए कहा कि यदि एक बार फिर यहां पूर्ण बहुमत की भाजपा सरकार बनती है तो मोदी और रघुवर दास मिलकर इस राज्य को देश का सबसे अग्रणी राज्य बनायेंगे।

इससे पूर्व आज शाह ने लातेहार के मनिका में भी एक जनसभा को संबोधित किया और वहां अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने की बात भी कही।

DO NOT MISS