Elections 2018

PC-PTI
PC-PTI

General News

बहराहच से BJP सांसद सावित्री बाई फुले ने नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दिया

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भारतीय जनता पार्टी की बहराइच से सांसद सावित्री बाई फुले ने पार्टी से नाराज होकर गुरुवार को इस्तीफा दे दिया . फुले ने संवाददाताओं से कहा, 'अयोध्या में आरएसएस, विहिप और भाजपा द्वारा मुस्लिम, दलित एवं पिछड़ों की भावना को आहत करते हुए संविधान की धज्जियां उड़ायी जा रही हैं . ' 

उन्होंने कहा, 'विहिप, भाजपा और आरएसएस से जुड़े संगठनों द्वारा अयोध्या में पुन: 1992 जैसी स्थिति पैदा कर समाज में विभाजन एवं सांप्रदायिक तनाव की स्थिति पैदा करने की कोशिश की जा रही है . इससे आहत होकर मैं भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रही हूं . ' 

फूले ने कहा कि भाजपा समाज में विभाजन पैदा करने का प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि लगातार शहरों और नगरों का नाम बदला जा रहा है.

बहुजन समाज एवं अल्पसंख्यकों के इतिहास को मिटाया जा रहा है.

सावित्रीबाई फुले ने आगे कहा, ‘हनुमान दलित थे और मनुवादियों के गुलाम थे. अगर लोग कहते हैंं कि भगवान राम हैं और उनका बेड़ा पार कराने का काम हनुमान जी ने किया था. उनमें अगर शक्ति थी तो जिन लोगों ने उनका बेड़ा पार कराने का काम किया, उन्हें बंदर क्यों बना दिया? उनको तो इंसान बनाना चाहिये था लेकिन इंसान ना बनाकर उन्हें बंदर बना दिया गया. उनको पूंछ लगा दी गई, उनके मुंह पर कालिख पोत दी गयी. चूंकि वह दलित थे इसलिये उस समय भी उनका अपमान किया गया .'

फूले ने कहा कि भारत का धन अनावश्यक रूप से मूर्तियां बनाने एवं मंदिरों के निर्माण में खर्च किया जा रहा है .

उन्होंने कहा कि सरकार देश का विकास ना करके हिन्दू-मुसलमान, भारत-पाकिस्तान और मंदिर-मस्जिद का खौफ दिखाकर आपसी भाईचारे को समाप्त करने का काम कर रही है.

फूले ने कहा कि भारत का धन लेकर भगोड़े विदेश भाग रहे हैं और भारत सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है .

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के मंत्रियों एवं सांसदों द्वारा धार्मिक उन्माद फैलाकर भारतीय संविधान की धज्जियां उड़ायी जा रही हैं .

उल्लेखनीय है कि फूले कई मौकों पर पार्टी लाइन से हटकर बयान देकर पहले भी विवादों में रही हैं .
 

 

( इनपुट- भाषा से )

Below Article Thumbnails
DO NOT MISS