General News

भाजपा ने हावड़ा में ‘जय श्री राम’ बोलने वाले पार्टी समर्थक की हत्या होने का आरोप लगाया

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भाजपा ने सोमवार को दावा किया कि हावड़ा जिले में पार्टी के एक समर्थक को ‘जय श्री राम’ बोलने पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मार डाला।

पुलिस ने 43 साल के समतुल डोलोई की मौत की पुष्टि की है जिसका शव अमता थाना क्षेत्र के सरपोता गांव में खेत में मिला। हालांकि मौत के कारणों पर अधिकारियों ने कुछ भी नहीं कहा।

स्थानीय सूत्रों के अनुसार डोलोई रविवार रात एक समारोह में गया था लेकिन घर नहीं लौटा। उसका शव सोमवार को मिला जिसके गले में फंदा था।

भाजपा की हावड़ा ग्रामीण इकाई के अध्यक्ष अनुपम मलिक ने दावा किया कि डोलोई उनकी पार्टी का समर्थक था और ‘जय श्री राम’ बोलने पर तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने उसकी हत्या कर दी।

तृणमूल कांग्रेस के विधायक समीर पांजा ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि निष्पक्ष जांच के बाद ही सच सामने आएगा।

बता दें इससे पहले महिने के प्रारंभ में  24 परगना के कांचरापाड़ा ईलाके में जय श्रीराम का नारा लगाने पर बवाल हो गया, यहां पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को नारे लगाने पर रोका। इससे पहले गुरुवार को भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सामने फिर से नारेबाजी हुई।  

बीजेपी कार्यकर्ताओं के नारे लगाने पर ममता बनर्जी अपने वाहन से उतरीं और कहा कि नारे लगाने वाले लोग बहार से आए हैं और वह भाजपा के लोग हैं। इस दौरान ममता बनर्जी ने कहा 'ये लोग अपराधी हैं और मुझे गाली दे रही हैं। उन्होंने दावा किया कि ये लोग बंगाल से नहीं हैं।' 

वहीं आज तड़के सुबह बंगाल के बर्धमान में भाजपा नेताओं पर लाठीचार्ज किया गया। यहां बर्धमान में बीजेपी कार्यकर्ता दूसरे कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी का विरोध कर रहे थे, 200 के करीब कार्यकर्ता मौके पर मौजूद थे, लाठीचार्ज के बाद पूरे इलाके में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं।

बता दें, पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनावों में हार का सामना करने वाली तृणमूल कांग्रेस के जख्मों पर नमक छिड़कते हुए भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ‘जय श्री राम' लिखे दस लाख पोस्टकार्ड भेजने का फैसला किया है। बंगाल से भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह ने कहा, ‘हमने मुख्यमंत्री के आवास पर 10 लाख पोस्टकार्ड भेजने का निर्णय किया है जिन पर ‘जय श्रीराम' लिखा होगा।' तृणमूल कांग्रेस के विधायक रह चुके सिंह आम चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए थे। उन्होंने यह बात भाजपा कार्यकर्ताओं के समूह पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किये जाने के बाद कही जो उस स्थान के बाहर प्रदर्शन के दौरान ‘जय श्रीराम' के नारे लगा रहे थे जहां तृणमूल कांग्रेस के नेता बैठक कर रहे थे।

( इनपुट-भाषा से )
 

DO NOT MISS