General News

'केदारनाथ' फिल्म की बढ़ीं मुश्किलें, BJP का आरोप- 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने वाली फिल्म पर लगे बैन...

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने उत्तराखंड में साल 2013 में आई विनाशकारी बाढ़ की पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म ‘‘केदारनाथ’’ पर प्रतिबंध लगाने की शनिवार को मांग करते हुए आरोप लगाया कि यह हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाती है और लव जिहाद को बढ़ावा देती है.

राज्य में भाजपा की मीडिया रिलेशंस टीम से जुड़े अजेंद्र अजय ने केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी को लिखा कि सबसे खराब मानवीय आपदाओं में से एक की पृष्ठभूमि पर बनी यह फिल्म हिंदुओं की भावनाओं का मजाक बनाती है. फिल्म का निर्देशन अभिषेक कपूर ने किया है.

फिल्म के टीजर में मुख्य कलाकार सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान के बीच एक चुंबन दृश्य दिखाया गया है और इसके पोस्टरों में टैगलाइन है ‘‘लव इज ए पिलग्रिमेज’’, इस पर आपत्ति जताते हुए भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि यह हिंदू धर्म पर हमला है क्योंकि केदारनाथ करोड़ों हिंदुओं की आस्था को व्यक्त करता है.

अजय ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘करोड़ों हिंदुओं के आस्था के केंद्र केदारनाथ में हुई इस बड़ी त्रासदी की पृष्ठभूमि पर यह रोमांटिक लव स्टोरी बनाकर फिल्म निर्माताओं ने इस धर्म को मानने वालों के प्रति बड़ा अनादर दिखाया है.’’

उत्तराखंड में स्थित केदारनाथ क्षेत्र में वर्ष 2013 में आयी प्रलयंकारी भीषण बाढ़ से जुड़े घटनाक्रम पर आधारित इस फिल्म का केदारनाथ के तीर्थ पुरोहितों से लेकर राजनीतिक दलों ने विरोध शुरू कर दिया है. फिल्म के विरोध में उतरे लोगों ने फिल्म के नायक और नायिका के बीच दर्शाए गये अंतरंग दृश्यों को धार्मिक आस्था से छेड़छाड़ बताते हुए आपत्तिजनक करार दिया है .

विरोध कर रहे लोगों ने फिल्म की कथा पर आपत्ति जतायी है और उनका मानना है कि यह फिल्म लव जेहाद का समर्थन कर रही है .

सात दिसंबर को रिलीज हो रही अभिषेक कपूर निर्देशित यह फिल्म बाढ़ में फंसी एक हिंदू श्रद्धालु को एक मुस्लिम द्वारा बचाये जाने के बाद दोनों के बीच पनपे प्यार की कहानी है . इस फिल्म में सारा अली खान और सुशांत सिंह राजपूत की जोड़ी है . सारा, सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी हैं और यह उनकी पहली फिल्म है.

(इनपुट- भाषा)

DO NOT MISS