General News

PM मोदी की बड़ी प्रशंसक, अपने क्षेत्र का विकास करना मेरी प्राथमिकता : बबीता फोगाट

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव के बाद अब बीजेपी की पहली अग्निपरीक्षा है। बीजेपी शासित दो राज्य महाराष्ट्र और हरियाणा में मतदान हो रहा है, ऐसे में आज इन दोनों राज्य का सियासी भविष्य EVM में कैद हो जाएगा और 24 अक्टूबर को परिणाम की घोषणा की जाएगी। 

अपने खेल के दम पर पूरी दुनिया में लोहा मनवाने वाले हरियाणा में नेताओं के साथ खिलाड़ी भी इसी सियासी अखाड़े में अपनी किस्मत अजामां रहे हैं। दादरी विधानसभा सीट पर पहलवान बबीता फोगाट के चुनावी ‘दंगल’ में उतरने के बाद से ही यह सीट पूरे चुनाव में चर्चा का विषय बनी रही और इस सीट पर बेहद दिलचस्प इसलिए भी है क्योंकि पिछले चार चुनावों में कोई भी पार्टी लगातार नहीं जीती है। भाजपा उम्मीदवार बबीता जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के सतपाल सांगवान और कांग्रेस के नृपेंद्र सिंह जैसे कद्दावर नेताओं के खिलाफ मैदान में है। ये दोनों ही नेता पूर्व में दादरी सीट पर दो हजार से कम मतों के अंतराल से विजयी हो चुके हैं।

"PM मोदी की बड़ी प्रशंसक हूं"

राष्ट्रमंडल खेलों की पदक विजेता बबीता ने रिपब्लिक भारत से बातचीत करते हुए अपने चुनावी एंजेडे को विस्तार से समझाया। उन्होंने कहा कि  मेरे सामने सबसे बड़े मुद्दे यहीं है कि अपने क्षेत्र का विकास करना है जोकि सालों से रुका हुआ है, जैसे पानी, स्वास्थ या खेल की समस्या आदि। 

उन्होंने आगे बीजेपी के साथ जुड़ने का उद्देश्य बताते हुए कहा कि मैंने पार्टी का हाथ इसलिए थमा कि क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीति और विचारधारा से प्रभावित होकर बीजेपी का दामन थमा, इसके साथ ही मैं सक्रिय राजनीति में उतरना चाहती थी। पीएम मोदी ने हमेशा महिलाओं का सम्मान किया है और महिलाओं को आगे ले जाने के लिए तरह -तरह की योजना के माध्यम से आगे ले जाने का प्रयास करे रहे हैं। पीएम की यह बात सबसे ज्यादा प्रभावित करती है कि हमारे देश के ऊपर अगर कोई आंख उठाकर देखता है तो वो उसका मुंह तोड़ जवाब देते हैं। 

खट्टर सरकार के पांच साल के रिपोर्ट कार्ड पर क्यों बोली बबीता?

अर्जुन पुरस्कार विजेता  ने आगे राज्य सरकार के पांच साल के कार्यकाल में किए गए कामों को लेकर बात करते हुए कहा कि मनोहर लाल खट्टर को पांच साल पहले कोई नहीं जानता था। लेकिन जिस तरह से काम करके उन्होंने अपनी अलग पहचान बनाई है और हरियाणा में दोबारा उनके नेतृत्व में सरकार बनने जा रही है। तो यह उनकी कार्यशैली का परिणाम है कि जो उन्होंने ईमानदारी से भ्रष्टाचार खत्म करके, चाहे वो ऑनलाइन तबादले कर दिए हो या हर घर गैस सिलेंडर पहुंचाना हो तो यह सब काम उन्होंने ज़मीनी स्तर पर किए हैं जिसकी वजह से लोग उनपर भरोसा करते हैं।

बबीता भाजपा द्वारा इस बार के विधानसभा चुनाव मैदान में उतारे गए तीन खिलाड़ियों में शामिल हैं। भगवा दल ने पहलवान योगेश्वर दत्त को सोनीपत की बड़ौदा सीट से तथा पूर्व हॉकी कप्तान संदीप सिंह को कुरुक्षेत्र की पिहोवा सीट से उम्मीदवार बनाया गया है।

'पीएम ने दिया खेल को बढ़ावा'

बीजेपी के घोषणा पत्र में खेल संबंधित मुद्दे को प्रमुख जगह देने को लेकर बबीता ने कहा कि इसके लिए मैं पीएम मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और खट्टर को धन्यवाद देना चाहूंगी  कि उन्होंने हमेशा से महिलाओं को सम्मान दिया है और खेलों को भी बढ़ावा दिया है। क्योंकि एक ऐसी विचारधारा थी कि केवल राजघारने के लोग ही राजनीति कर सकते हैं, लेकिन उन्होंने उस विचारधारा को तोड़ा है। हर वर्ग के लोगों को उन्होंने उम्मीदवार बनाया है चाहे वो खिलाड़ी हो या किसान और यह हर किसी का अधिकार है।

आसान नहीं है चुनौती!

दादरी विधानसभा सीट से कुल 17 उम्मीदवार मैदान में हैं। चरखी दादरी को मनोहर लाल खट्टर सरकार ने राज्य का 22वां जिला बनाया था। बबीता को चुनौती देने वालों में सोमबीर भी शामिल हैं जो पिछली बार बहुत कम मतों से हार गए थे। भाजपा द्वारा इस बार टिकट न दिए जाने पर वह अब निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं।

अन्य प्रतिद्वंद्वी सतपाल सांगवान कांग्रेस द्वारा दादरी से टिकट न दिए जाने पर जेजेपी में शामिल हो गए थे।

 

DO NOT MISS