General News

मुंबईवासियों को बड़ी राहत.. 9 दिन बाद हड़ताल खत्म, शुरू हुआ बस का परिचालन

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

देश की आर्थिक कही जाने वाली मुंबई के लोगों को हालिया सबसे बड़ी परेशानी से छुटकारा मिल गया है. बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई एंड ट्रांस्पोर्ट (बेस्ट) कर्मियों की हड़ताल ख़त्म हो गई है. इस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने बेस्ट यूनियन को स्ट्राइक खत्म करने का निर्देश दिया. जिसके बाद बेस्ट संघ के कर्मियों ने स्ट्राइक खत्म कर दी.

बॉम्बे हाईकोर्ट ने अपने आदेश में ये कहा था कि BEST यूनियन इस हड़ताल को 1 घंटे के भीतर खत्म करने की घोषणा करे. जिसके बाद बस का परिचालन दोबारा शुरू हो गया.

मुंबई में यात्रियों की परेशानियां अब खत्म हो गई है. बेस्ट की बस हड़ताल का बुधवार को नौवां दिन था और बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (बेस्ट) के इतिहास में अब तक की सबसे लंबी हड़ताल थी.

हड़ताल खत्म होने के बाद बेस्ट की बसों का परिचालन दोबारा शुरू हो गया है. इस दौरान यात्रियों के चेहरे की खुशी सबकुछ बयां कर रही थी. बता दें, मुंबई में लोकल ट्रेनों के बाद ये यातायात का दूसरा सबसे बड़ा साधन है. बेस्ट की बसों में हर दिन 80 लाख से अधिक यात्री सवार होते हैं.

कई मांगों को लेकर 8 जनवरी से बेस्ट के 32 हजार से अधिक कर्मचारी हड़ताल पर थें. उनकी मांगों में वेतन वृद्धि, कनिष्ठ स्तर के कर्मचारियों के लिए वेतन मान में सुधार और नुकसान में चल रही बेस्ट के बजट का बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के बजट के साथ विलय शामिल था.

मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली उच्चाधिकार प्राप्त समिति ने सिफारिश की थी कि हड़ताल बंद करने के लिए अंतरिम राहत के तौर पर समयबद्ध तरीके से करीब 15,000 कर्मचारियों के लिए वेतन में ‘10 चरण की वृद्धि’ दी जाए.

हाई कोर्ट के आदेश के बाद सरकार ने इन कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने का फैसला किया है. जानकारी के मुताबिक बढ़ा हुआ वेतन जनवरी 2019 से ही मिलेगा.

इसे भी पढ़ें - बेस्ट की बस हड़ताल जारी, मुंबईवासियों की मुश्किलें दूर होने के नहीं दिख रहा आसार

इस हड़ताल के दौरान मुंबई भर के यात्रियों में काफी आक्रोश देखने को मिला. स्ट्राइक से नाराज यात्रियों ने सोशल मीडिया पर भी अपनी भड़ास निकाली. हालांकि मायानगरी कही जाने वाली मुंबई में ये हड़ताल सबसे लंबे वक्त तक चली लेकिन हड़ताल खत्म होने के बाद परेशान यात्रियों ने भी काफी लंबे वक्त के बाद राहत की सांस ली.

DO NOT MISS