General News

VIDEO: आजम खान ने बिना शर्त दो-दो बार मांगी माफी, भाजपा सांसद रमा देवी को लेकर दिया था विवादित बयान

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

अपने आपत्तीजनक टिप्पणीयों  को लिए चर्चा में रहने वाले आजम खान ने अपने विवादित बायन को लेकर सदन में माफी मांग ली है, आजम खान ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात के बाद लोकसभा में अपने बयान को लेकर माफी मांगी । पिछले हफ्ते सांसद रमा देवी पर लोकसभा में उस समय विवादस्पद बयान दिया था जिस समय रमा देवी चेयर की भूमिका निभा रहीं थी।  आजम खान के बायन की बाद में हर पार्टी के नेताओं ने निंदा की थी।

शुक्रवार को आजम खान के मुद्दे पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के साथ हुई सर्वदलीय बैठक में यह फैसला लिया गया है कि आजम खान को माफी मांगने के लिए कहा जाएगा। बैठक में फैसला हुआ है कि आजम खान अगर माफी नहीं मांगते हैं तो लोकसभा स्पीकर ओम बिरला उनपर फैसला लेंगे। 

सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आजम खान का नाम पुकारा।

इसके बाद सपा सांसद ने कहा कि आसन के प्रति न मेरी कोई गलत भावना थी और न कभी रही है।

उन्होंने कहा कि वह दो बार संसदीय कार्य मंत्री रहे हैं, चार बार मंत्री रहे हैं, नौ बार विधायक रहे हैं और राज्यसभा में भी रह चुके हैं। ‘‘मेरे भाषण, मेरे आचरण को पूरा सदन जनता है। इसके बावजूद भी आसन को लगता है कि मुझसे भावना में कोई गलती हुई तो इसके लिये क्षमता चाहता हूं । ’’ हालांकि, सदन में कुछ सदस्यों ने आजम की बात ठीक से नहीं सुने जाने की बात कही । इस पर अध्यक्ष ने उनसे एक बार फिर से बोलने को कहा । इसके बाद आजम खान ने फिर कहा, ‘‘ बात को एक बार कहें या एक हजार बार कहें.. बात वही रहेगी । आसन के लिये मेरी कोई गलत भावना हो, ऐसा संभव ही नहीं है, फिर भी आसन को लगता है कि मुझसे कोई गलती हुई है तो मैं क्षमा मांगता हूं ।’’ इस बीच भाजपा सदस्य रमा देवी ने कहा कि आजम खान की यह आदत रही है, बाहर भी वह ऐसे ही बोलते रहे हैं । ‘‘ मैं वरिष्ठ सांसद हूं, अध्यक्ष जी जो आदेश देंगे, उसका पालन करूंगी । ’’ गौरतलब है कि लोकसभा में भाजपा, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, राकांपा सहित सभी दलों ने गुरूवार को पीठासीन सभापति रमा देवी के बारे में सपा सांसद आजम खान की टिप्पणी की शुक्रवार को पार्टी लाइन से हटकर कड़ी भर्त्सना करते हुए इसे ‘कुटिल, दुर्भावनापूर्ण, अपमानजनक’ बताया था तथा स्पीकर से इस मामले में ‘कठोरतम’ कार्रवाई करने की मांग की । 

इस मामले पर शून्यकाल में निचले सदन में विभिन्न दलों की महिला सांसदों समेत कई दलों के नेताओं ने करीब एक घंटे तक सपा सदस्य की टिप्पणी पर अपना कड़ा विरोध जताया । महिला सांसदों ने स्पीकर से ऐसी कार्रवाई करने की मांग की थी जो ‘नजीर’ बन सके ।

दरअसल, तीन तलाक पर जारी बहस के दौरन जब आमज खां बोलने के लिए खड़े हुए तो सभापति ने उन्हें इधर उधर पर देखने के बजाय कुर्सी की तरफ देखकर बोलने को कहा। लेकिन इसपर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि मुझे आप इतनी अच्छी लगती हो, इतनी प्यारी लगती हो कि मैं कभी भी आप से नजर ना हटाओ। और मैं आपकी तरफ इतना देखों की आप खुद कहें कि आप खुद नजर हटा लो।

हालांकि विवाद बढ़ता देख सपा सांसद ने कहा कि मैंने तो प्यारी बहन कहा था. मैं किसी के बारे में कुछ गलत नहीं है, आप रिकॉर्ड चेक कर लीजिए, अगर कोई शब्द गलत कहा हो तो अभी सदन से इस्तीफा देने को तैयार हूं। उन्होंने आगे कहा कि मेरा लंबा संसदीय अनुभव रहा है और यह कहते हुए आजम ने कहा कि ऐसे अपमानित होकर बोलने से कोई फायदा नहीं है। 

 

DO NOT MISS