General News

महबूबा की बारूदी सोच, कहा - 35 ए से छेड़छाड़ करना बारूद में आग लगाने जैसा होगा

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:


जम्मू - कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने रविवार को केंद्र को आगाह करते फिर ऐसा ही बयान दिया है। जिससे साफ हो गया है कि अपने सियासी करियर को दांव पर लगता देख अब महबूबा घाटी में आग लगाकर एक बार फिर सियासत चमकाना चाह रही है।  शनिवार को सेना की तैनाती पर सवाल उठाने वाली महबूबा मुफ्ती ने आज एक बार फिर घाटी में आग लगाने वाला बयान दिया है । महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार को धमकी दी है कि अगर राज्य से आर्टिकल 35ए हटाया गया तो राज्य में आग लग जाएगी। 35ए हटाने का मतलब बारूद के ढेर में आग लगाने जैसा होगा।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) का स्थापना दिवस मनाने के लिए यहां आयोजित एक कार्यक्रम में मुफ्ती ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे अनुच्छेद 35 ए की रक्षा के लिए लड़ाई लड़ने को तैयार रहें। 


 यह अनुच्छेद राज्य के स्थायी निवासियों को विशेष अधिकार प्रदान करता है।  पीडीपी अध्यक्ष महबूबा ने कहा, ‘‘हम केंद्र सरकार को बताना चाहते हैं कि अनुच्छेद 35 ए से छेड़छाड़ करना बारूद में आग लगाने जैसा होगा। यदि कोई हाथ अनुच्छेद 35 ए को छूने की कोशिश करेगा तो न सिर्फ वह हाथ, बल्कि सारा शरीर जलकर राख बन जाएगा।''  उन्होंने कहा कि राज्य के विशेष दर्जे से किसी तरह की छेड़छाड़ के प्रयास को रोकने के लिए वे अंतिम सांस तक लड़ेंगे।     


लेकिन, उनका ताजा बयान राज्य का माहौल बिगाड़ने की कोशिश से कम नहीं है। दरअसल, दो दिन पहले मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर में 10 हज़ार अतिरिक्त अर्धसैनिक बलों की तैनाती का फैसला लिया है। खबर है कि आर्टिकल 35ए हटाने के विरोध की आड़ में हिंसा फैलाने वालों पर नकेल लगाने के लिए ये तैनाती की जा रही है। अब ऐसे में महबूबा को लग रहा है कि यही मौका है जब अपनी सियासत चमकाई जाए और इसीलिए चुनाव में जनता से ठुकराए जाने के बाद वो तमाम पैंतरेबाज़ी कर रही हैं।

वहीं बीजेपी ने जम्मू कश्मीर की राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करने और विधानसभा चुनाव के लिए  पार्टी की तैयारी पर चर्चा करन के लिए मंगलवार को अपनी जम्मू कश्मीर इकाई के कोर ग्रुप की बैठक बुलायी है।  सूत्रों ने बताया कि केंद्रिया मंत्री जितेंद्र सिंह, भाजपा महासचिव राममाधव , प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना और राज्य के अन्य नेता इस बैठक में हिस्सा लेंगे।  जिसकी अध्यक्षता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा करेंगे। इससे पहले,जम्मू कश्मीर के लिए पार्टी के मुख्य रणनीतिकार राम माधव ने चुनाव आयोग से इस साल राज्य में चुनाव कराने की अपील की थी।


 

DO NOT MISS