General News

जामिया में रिपब्लिक की टीम के साथ हुई गुंडागर्दी के बाद आलोचकों को अर्नब गोस्वामी का दो टूक जवाब

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की वाइस चांसलर नजमा अख्तर ने सोमवार को प्रदर्शन कर रहे छात्रों से मुलाकात की। वहीं जामिया मिलिया इस्लामिया की वीसी को प्रदर्शनकारी गुड़ों ने धमकी दी। इस दौरान जामिय के छात्रों ने पत्रकारों की आजादी पर रोक लगाने की कोशिश की। उन्होंने विरोध प्रदर्शन के दौरान R.भारत के 7 रिपोर्टरों से बदसलूकी की और जबरदस्ती फुटेज डिलीट कराने की भी कोशिश की। वहीं कुछ गुंडो ने महिला पत्रकार के साथ भी बदसलुकी करने की कोशिश की।


अर्नब की राय  

कैंपस में मुर्दाबाद के नारे लगाएं और देश तोड़ने की बात करें। उन्हें मैं छात्र नहीं, गुंडे ही कहूंगा। इसीलिए आज जब हमने इन गुंडों को बेनकाब किया तो हमारे ऊपर हमला हुआ। हमारे रिपब्लिक टीवी के रिपोर्टर को कमरे में बंद कर दिया। इन गुंडों मैं साफ कह दूं हम डरते नहीं। सच दिखाते हैं कैंपस के गुंडों तुम सुन लो। टुकड़े गैंग तुम अपने कान खोल लो। अगर तुम देश का कानून तोड़ोगे तो हम तुम्हारी साजिश को तोड़ेंगे।  देश तोड़ने वालों के खिलाफ मैं मैदान में उतर गया हू और मेरे साथ पूरा देश है। 

उन्होंने कहा आज जामिया के गुंडों ने VC से पूछा CAA और NRC पर आपका क्या स्टैंड है? क्या  ये छात्रों का सवाल है कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का? जामिया में हमारे रिपोर्टर से माइक छीन लिया गया और गुंडों ने कहा बोलो CAA मुर्दाबाद । मैं कहता हूं टुकड़े गैंग मुर्दाबाद। पुलिस पर हमला करने वाले मुर्दाबाद छात्रों को मोहरा बनाने वाले आप जैसे नेता मुर्दाबाद
। जामिया के गुंडे कह रहे हैं मासूम छात्रों को मारा गया। जिन लोगों ने 4 बसे जलाईं। 100 प्राइवेट वाहन जलाए। 10 मोटर साइकिल में आग लगाई। वो मासूम हैं दंगाई। 16 दिसंबर को जामिया के VC ने कहा था कैंपस में 750 फर्जी ICARD मिले। जो लोग हिंसा फैलाकर कैंपस में घुस जाएं। उनको पुलिस बाहर नहीं निकाले तो क्या उनकी पूजा करे

छात्र प्रदर्शन करें सवाल करें लेकिन जिन दंगाई ने चेहरा ढंका वो कौन थे। उन पर सवाल कब होगा जिनके हाथ में पेट्रोल बम था वो कौन थे? उनके खिलाफ प्रदर्शन कब होगा

अगर प्रदर्शन करने वालों को अमानतुल्ला खान नहीं याद है तो मैं याद दिला दूं। उसने कहा था कि आज CAB आया हैं, कल  दाढ़ी, टोपी, बुर्का, मस्जिद सब बंद होगा। इस अफवाह के खिलाफ प्रदर्शन कब होगा

कांग्रेस का नेता आसिफ खान कहता था कि 5 लाख मुसलमान सड़क पर आएंगे। मतीन अहमद कहता था कि चलो उठो और दंगा करो । सबसे बड़े गुंडे तो यही हैं। जो दिल्ली जला रहे हैं. इनके खिलाफ प्रदर्शन करो।

जामिया के आस पास जो विरोध हो रहा है। जरा उनके नारे सुनिए। जिन्ना वाली आजादी वर्दी की दहशतगर्दी। आखिर जामिया में पाकिस्तान के नारे कहां से आए। 

पूरे शाहीन बाग पर कुछ लोगों ने कब्जा कर रखा है। जो लोग जाते हैं उनसे ICARD मांगा जाता है। मोबाइल रख लिया जाता है। क्या शाहीन बाग में हिंदुस्तान का कानून चलता है या तालिबान का

आप जिन्हें छात्र कह रहे हैं वो क्या कहते हैं। आजादी.. अरे भाई आप पुलिस को मार रहे हो, सेना को गाली दे रहे हो, सरकार के खिलाफ नारे लगा रहे हो, कौन सी आजादी है जो आपको नहीं मिली है। कैंपस में सब कुछ हो रहा है मारपीट, गुंडागर्दी, हिंसा और कोई सवाल करे तो कहते हैं CAA मुर्दाबाद । आखिर कैंपस में CAA विरोध का पाठ कौन पढ़ा रहा है 

JNU और जामिया पर सरकार लगभग 800 करोड़ रुपये खर्च कर रही है और वहां से मिल क्या रहा है। जिन्ना वाली आजादी और भारत तेरे टुकड़े होंगे। हम अपने पैसे से देश के दुश्मन नहीं पैदा होनें देंगे।

मैं आपको बताता हूं कि जामिया के गुंडे R. भारत से क्यों डर गए। क्योंकि हम भारत की बात करते हैं टुकड़े गैंग की नहीं, हम सेना के साथ खड़े होते हैं। अफजलवादियों के साथ नहीं । मैं आज फिर कह रहा हूं तुम जितने गुंडे भेजेओ हम उतना ही सच दिखाएंगे।

 मैं आपको कुछ वीडियो दिखाता हूं। हमारे रिपोर्टर को धक्का दिया। कैमरे पर हाथ रखा, कैंपस से बाहर जाने को कहा। फुटेज डिलीट करने को कहा। लेकिन हम डटे हैं हमारे रिपोर्टर अभी भी जामिया में मौजूद है। क्योंकि हम राष्ट्रवादी हैं गुंडों से नहीं डरते। 

DO NOT MISS