General News

पुलवामा हमले पर अर्जुन अवार्डी रजत चौहान ने कहा- 'पाकिस्तान जैसे देश के साथ हमें खेलना ही नहीं '

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद हिंदुस्तान के लोगों में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है। हर कोई ये मांग कर रहा है कि पाकिस्तान को कड़ा सबक सिखाया जाना चाहिए। लेकिन इन सबके बीच रिपब्लिक भारत डंके ती चोट पर ये पूछ रहा है कि वो (पाकिस्तान) खून का खेल खेलें.. तो उनके साथ क्रिकेट का खेल क्यों खेलें?

PAK आतंकवाद को गोद में बिठाए, तो भारत उसके साथ क्रिकेट क्यों खेले?.. वो भारत में मौत का मैदान बनाने की साजिश करे, तो उसके साथ क्रिकेट क्यों? आज रिपब्लिक भारत ये सवाल पूछ रहा है कि क्या ऐसे मुल्क के साथ हम क्रिकेट के विश्व कप में कोई भी मैच सकते हैं...जो  भारत की जमीन पर मासूमों को साथ दिन रात मौत का खेल खेलने की फिराक़ में रहता है।

रिपब्लिक भारत की ये मुहिम है कि भारत को पाकिस्तान के साथ कोई मैच नहीं खेलना चाहिए, हमारी मुहिम को पुरे देश भर से समर्थन मिल रहा हैं।

इस पर  इंटरनेशनल रेसलर द ग्रेट खली ने रिपब्लिक भारत के मुहिम का समर्थन करते हुए कहा कि पाकिस्तान को जवाब देना चाहिए। पाकिस्तान ने अबतक न जाने हमारे कितने  जवानों की जान ली है पाक को इसकी आदत लग गई है। उन्हें लगता है कि हम कुछ नहीं करेगें और नुकसान किए जा रहे है।  ये लातों के भूत है बातों से नहीं मानते। 

इसपर अर्जुन अवार्डी रजत चौहान ने कहा कि '' पाकिस्तान जैसे देश के साथ हमें खेलना ही नहीं है। उनका व्यवहार देख कर नहीं लगता है कि उनके साथ कोई रिश्ता रखना चाहिए । 

आपको बता दें रिपब्लिक भारत के इस मुहिम को भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया, रेसलर द ग्रेट खली , भारतीय बैडमिंटन टीम के राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद, भारतीय बल्लेबाज वसीम जाफर समेत भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान सरदार सिंह ने अपना समर्थन दिया है।

पुलवामा हमले में जवानों की शहादत के बाद आखिर क्यों भारत विश्वकप में पाकिस्तान के साथ खेलना चाहिए, पूरे देश की आवाज बनकर रिपब्लिक भारत आज ये सवाल पूछ रहा है।

रिपब्लिक भारत डंके की चोट पर ये सवाल करता है..

क्या देश से बड़ा होता है क्रिकेट?
क्या शहादत भूलकर होना चाहिए मैच?
शहीदों के मान से ज्यादा जरुरी है विश्वकप?
पाक के साथ क्रिकेट क्यों जरुरी है?

DO NOT MISS