General News

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने संभाला आदिवासी मामलों के मंत्रालय का कार्यभार

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के प्रमुख आदिवासी चेहरों में से एक अर्जुन मुंडा ने सोमवार को आदिवासी मामलों के मंत्रालय का कार्यभार संभाल लिया ।

मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने मुंडा का स्वागत किया । बाद में मंत्री ने अधिकारियों के साथ बैठक की जिन्होंने उन्हें मुद्दों से अवगत कराया । मुंडा झारखंड में खूंटी लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं। मुंडा ने जुएल ओराम से कार्यभार लिया जो ओडिशा में सुंदरगढ़ लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं ।

छत्तीसगढ़ में सरगुजा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद रेणुका सिंह सरूता ने मंत्रालय में राज्यमंत्री का पद भार संभाला । सरूता रमन सिंह सरकार में 2003 से 2005 तक प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री रह चुकी हैं ।


बता दें अर्जुन मुंडा लोकप्रिय और प्रभावशाली नेता है। वह भगवान बिरसा मुंडा की विरासत को आगे बढ़ाते हुए जनतातीय समाज का प्रतिनिधित्व करते हैं।

लगभग साढ़े चार वर्ष से अधिक समय तक सक्रिय राजनीति से तकरीबन अगग - थलग रहे अर्जुन मुंडा ने लोकसभा चुनाव में जबरदस्त वापसी की तो केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें हाथों-हाथ लिया।  मंत्री पद के लिए झारखंड से आधा दर्जन दावेदारों में से जब चयन की स्थिति आई तो बिना किसी सोच विचार के उनका नाम तय कर दिया गया। अर्जुन मुंडा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में 14वें मंत्री के रूप में शपथ ली।

एनडीए में यशवंत सिन्हा के बाद अर्जुन मुंडा दूसरे ऐसे नेता हैं।  जिन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है।  तीन बार झारखंड के मुख्यमंत्री पद का दायित्व संभाल चुके अर्जुन मुंडा ने राष्ट्रीय स्तर पर संगठन से जुड़े दायित्व को भी बखूबी निभाया है। झारखंड में बतौर सीएम उन्होंने सत्ता और संगठन में बराबर समन्वय बनाकर रखा।

51 साल के अर्जुन मुंडा महज 27 साल की उम्र में विधायक और 35 साल की उम्र में मुख्यमंत्री बने। वह 2003, 2005 और 2010 में झारखंड के मुख्यमंत्री रहे हैं। झारखंड आंदोलन की उपज अर्जुन मुंडा 1995 में खरसावां विधानसभा सीट से पहली बार चुने गए थे। 2000 में अर्जुन मुंडा भाजपा में शामिल हो गए और 35 साल की उम्र में 2003 में पहली बार मुख्यमंत्री बने। तब वे सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री थे। बाद में मधु कोड़ा ने उनका यह रिकार्ड तोड़ा। अर्जुन मुंडा 2009 में जमशेदपुर से सांसद और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव भी रहे। 

DO NOT MISS