General News

मॉब लिंचिंग पर 49 फिल्मी हस्तियों ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, मणिरत्नम की टीम का चिट्ठी लिखने से इनकार

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

प्रचंड बहुमत के साथ मोदी सरकार की सत्ता में दोबारा वापसी के बाद जो गैंग सोया हुआ था। उस गैंग को मॉब लिंचिग की घटनाओं ने संजीवनी दे दी। मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर देश को दर्द हैं लेकिन इस पर राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए सरकार विरोधी असहिष्णुता गैंग सक्रिय हो गया है।

असहिष्णुता गैंग अब  मॉब लिंचिंग के बहाने सरकार के साथ साथ हिंदुओं को निशाना बनाया जा रहा है। देश को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है- हिंदू-मुस्लिम को एक दूसरे के खिलाफ भड़काने की साजिश की जा रही है।

देशभर के ये बुद्धिजीवी अब देश को बदनाम करने और राम के नाम पर धार्मिक उन्माद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। समाज सेवक, बुद्धिजीवी, फिल्मकार और कलाकारों के इस गैंग के करीब 49 लोगों ने हस्ताक्षर कर पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी है ।

पीएम को लिखी चिट्ठी में मुस्लिमों और दलितों पर हुए हमले पर चिंता जताई है। भड़काने के लिए राम के नाम का इस्तेमाल की बात की गई है। चिट्ठी में एंटी नेशनल और अर्बन नक्सल का टैग लगाने पर भी चिंता जताई गई है। साथ ही पीएम ने सवाल किया गया है कि आपने लिंचिंग की निंदा की लेकिन दोषियों पर क्या कार्रवाई की। 

इस चिट्ठी में नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के आधार पर धर्म के नाम पर मॉब लिंचिंग की घटनाओं का ब्यौरा दिया गया है। जिसमें केवल मुस्लिमों पर हुए हमले दिखाए गए हैं। जबकि गृहमंत्रालय ने संसद में साफ किया है कि मॉब लिचिंग के मामलों में कमी आई है 

केवल एक वर्ग, समुदाय या धर्म की बात कहकर ये गैंग देश में सरकार के खिलाफ माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रहा है।ऐसे में इस कथित बुद्धि जीवियों से सवाल है कि क्या खूनी भीड़ सिर्फ हिंदुओं की होती है ।हालांकि  ये पहला मौका नहीं है जब इस तरह की आवाज उठाकर देश को बदनाम करने की साजिश रची गई हो ।इससे पहले अवॉर्ड वापसी गैंग से लेकर तमाम गैंग ऐसी कोशिश कर चुके हैं ।

DO NOT MISS