Elections 2018


General News

बुलंदशहर हिंसा : घटना के मुख्य आरोपी योगेश के बाद दूसरे आरोपी का वीडियो वायरल

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

बुलंदशहर हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कड़े तेवर के बाद एक्शन मोड़ में आई पुलिस ने ताबड़तोड़ छापे मारकर गोकशी के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया . लेकिन मुख्य आरोपी बजरंग दल के नेता योगेश राज अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. कल योगेश ने एक वीडियो जारी कर सफाई दी. वीडियो में योगेश ने कहा कि स्याना में हुई घटना में पुलिस ने अपराधी बताने में तूली हुई है.

  बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश के बाद दुसरा आरोपी शिखर अग्रवाल ने भी एक वीडियो क्लिप जारी की है. इस वीडियो में वह अपने आप को बेगुनाह बताते हुए शहीद इंस्पेकटर  पर  ही  आरोप लगा रहा है. इधर योगेश राज के फरार होने पर यूपी पुलिस सवालों के घेरे में आ गई है.


इधर बुलंदशहर में गोकशी के सूचना के बाद भड़की हिंसा में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के परिवार वालों ने आज यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की.  इस दौरान  शहीद  के पत्नी बेटे और डीजीपी ने सीएम आवास में जाकर योगी से मुलाकात की. योगी आदित्यनाथ ने बुलंदशहह के स्याना थाने के इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के परिजनों से कहा दोषी कोई भी हो बचेगा नहीं. हमारी तीन टीमें वहां काम कर रही है. शीध्र ही साजिश का सच सामने आएगा.

वहीं सीएम से मिलने के बाद सुबोध सिंह की पत्नी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह सरकार की कार्रवाई से खुश हैं. बता दें यूपी के प्रमुख सचिव ने पत्र जारी कर जैथरा -करावली मार्ग को बदलकर शहीद सुबोध कुमार सिंह मार्ग करने की घोषणा की. 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन दिसंबर को बुलंशहर की घटना में दिवंगत पुलिस इस्पेक्टर की पत्नी को 40 लाख और माता - पिता को 10 लाख रुपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. इसके साथ ही उन्होंने शहीद इंस्पेक्टर के आश्रित परिवार को पेंशन और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा की है. 

याद दिला दें कि मामलें में एसाआइटी जांच की रिपोर्ट कल रात सीएम योगी को दे दी गई है. 

वहीं सीएम योगी आदित्यानाथ ने कल कानून -व्यवस्था पर अधिकारियों के साथ बैठक की. बुलंदशहर में सोमवार को  गोकशी के शक में हिंसा भड़क उठी थी. इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक नौजवान सुमित चौधरी की मौत हो गई थी. 

अभी तक इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मुख्य आरोपी बजरंग दल के नेता योगेश राज अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. कल योगेश ने एक वीडियो जारी कर सफाई दी. वीडियो में योगेश ने कहा कि स्याना में हुई घटना में पुलिस ने अपराधी बताने में तूली हुई है. घटना के मुख्य आरोपी योगेश के बाद दुसरे आरोपी का वीडियो वायरल हो रहा . इस वीडियो में वह अपने आप को बेगुनाह बताते हुए सारा आरोप शहीद इंस्पेकटर  पर मढ़ता दिख रहा है. इधर योगेश राज के फरार होने पर यूपी पुलिस सवालों के घेरे में आ गई है.
 

Below Article Thumbnails
DO NOT MISS