General News

असदुद्दीन ओवैसी का अमित शाह के नसीहत पर पलवार, कहा- 'वे सिर्फ एक गृहमंत्री हैं, कोई भगवान नहीं'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:


लोकसभा में सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने AIMIM नेता और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी को दो टूक शब्दों में नसीहत दे दी। अमित शाह ने असदुद्दीन ओवैसी को कहा कि उन्हें लोकसभा में सुनने की भी आदत डालनी होगी। अमित शाह ने ओवैसी को दूसरे सांसदों का भाषण पूरा सुनने की नसीहत दी।

सेशन के बाद इसपर पलटवार करते हुए ओवैसी ने कहा, 'जो बीजेपी के फैसले का समर्थन नहीं करता है, उन्हें वे देशद्रोही कहते हैं। क्या उन्होंने देशद्रोहियों की दुकान खोल रखी है? उन्होंने कहा कि अमित शाह ने उंगली उठाकर मुझे धमकी दी है, लेकिन वे सिर्फ एक गृहमंत्री हैं, कोई भगवान नहीं. उन्हें पहले नियम पढ़ना चाहिए।'

दरअसल लोकसभा में सोमवार को राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (NIA) को अधिक ताकत देने वाला संशोधन बिल पेश हुआ और इस पर चर्चा हुई। चर्चा के दौरान भाजपा सांसद सत्यपाल सिंह एनआईए बिल पर बोल रहे थे, लेकिन तभी असदुद्दीन ओवैसे ने बीच में ही टोक दिया। इसपर अमित शाह उठे और कहा '' सुन्ना की भी आदत डालिए ओवैसी साहब, इस  तरह से नहीं चलेगा, सुनना पड़ेगा'। इसपर असदुद्दीन ओवैसी के बर्ताव पर गृह मंत्री नाराज दिखे और उन्हें खरी-खरी सुनाई।


NIA संशोधित बिल पर जब सोमवार को लोकसभा में चर्चा शुरू हुई तो चर्चा के दौरान मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर और बीजेपी सांसद ने सत्यपाल सिंह ने अपना रुख रखते हुए कहा कि आतंकवाद इसलिए फल-फूल रहा है क्योंकि हम उसे राजनीतिक चश्मे से देखते हैं जबकि हमें उससे मिलकर लड़ना चाहिए।


उन्होंने कहा कि मुंबई ने आतंकवाद को खूब झेला है क्योंकि वहां भी इसे राजनीतिक आईने में देखा गया। बीजेपी सांसद ने कहा कि हैदराबाद धमाकों में जब पुलिस ने कुछ अल्पसंख्यक समुदाय से आने वाले संदिग्धों को पकड़ा तो सीधे मुख्यमंत्री ने कमिश्नर से कहा कि ऐसा मत कीजिए वरना आपकी नौकरी चली जाएगी।

वहीं राष्ट्रीय अन्वेशषण अभिकरण (एनआईए) संशोधन बिल पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कानून तोड़ने वालो को कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा ''सदस्यों ने चिंता जाहिर की है कि इस कानून का दुरुपयोग हो सकता है। मोदी सरकार का इस कानून के दुरुपयोग का कोई इरादा नहीं है।''
 

DO NOT MISS