General News

महबूबा ने फिर दिया विवादित बयान, कहा- 'अमरनाथ यात्रा के नाम पर कश्मीरियों को न किया जाए परेशान'

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

अपने विवादित बयानों के चलते अक्सर सुर्खियों में रहने वाली जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अब अमरनाथ यात्रा को लेकर सवाल उठाकर नया विवाद खड़ा कर दिया। 

महबूबा ने अमरनाथ यात्रा के दौरान सख्त सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं।

पीडीपी प्रमुख ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यात्रा सालोंसाल से चल रही है। कश्मीरी लोग इसका इंतज़ार करते हैं। इससे भाईचारा कायम रहा है हमारा और बहुत ही खुशी के साथ यहां के लोग पेश आते हैं। 

उन्होंने आगे कहा कि लेकिन दुभार्ग्य से इस साल जो इंतजामात किए गए हैं। उससे लगता है कि जो कश्मीर के लोग यहां के रहने वाले हैं। वो सब उनके खिलाफ हैं। उनकी गाड़ी नहीं चल सकती, उनको रुकना पड़ता है। अगर कोई बीमार है और कोई मुश्किलात है। कहीं खुदा ना खास्ता कहीं एक्सिडेंट भी होता है, तो उसको रोका जाता है कि उसको पास करने दो। मुझे लगता है कि ये बहुत ज्यादती है।

महबूबा यहीं नहीं रुकीं, उन्होंने इसे कश्मीरियों के साथ ज्यादती भी बताया ताकि, उनकी सहानुभूति बटोरी जा सके।

बता दें, इस वक्त जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लगा हुआ है और सुरक्षा स्थिति को देखते हुए राज्यपाल शासन को 6 महीने की अवधि के लिए बढ़ा दिया गया है।

जारी है अमरनाथ यात्रा 

अमरनाथ यात्रा के लिए 4,773 श्रद्धालुओं का आठवां जत्था रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच भगवती नगर आधार शिविर से रवाना हुआ। ये श्रद्धालु अनंतनाग जिले के पहलगाम और गांदेरबल जिले के बालटाल शिविर पहुंचेंगे, जहां से वे 3880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित बर्फीली गुफा के दर्शन के लिए आगे की यात्रा पर निकलेंगे।

इसमें से 2,751 श्रद्धालु पारम्परिक पहलगाम मार्ग (36 किमी लंबे) से और 2022 श्रद्धालु बालटाल मार्ग (14 किमी लंबे) से आगे की यात्रा करेंगे। अभी तक 85,000 से अधिक श्रद्धालु अमरनाथ गुफा के दर्शन कर चुके हैं।
यह वार्षिक यात्रा 30 जून को शुरू हुई थी और 15 अगस्त को रक्षा बंधन के दिन सम्पन्न होगी।
 

DO NOT MISS