General News

गुजरात हिंसा मामला: बिहार कांग्रेस से अल्पेश ठाकोर की विदाई तय!

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

गुजरात में उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों से मारपीट कर उन्हें भगाने के मामले से चर्चा में आए कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर के लिए एक ओर संकट खड़ा हो गया है. सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी अध्यक्षता वाली कांग्रेस पार्टी अब अल्पेश को बिहार के कांग्रेस इंचार्ज के पद से हटाने की सोच रही है.

इससे पहले अक्टूबर में, सूत्रों ने रिपब्लिक टीवी को बताया था कि राज्य के कांग्रेस नेताओं ने राहुल गांधी से इस मामले में कार्रवाई करने के साथ अल्पेश ठाकोर के खिलाफ भी कार्रवाई की बात कही थी. 

गौरतलब है कि गुजरात के साबरकांठा में 14 महीने की बच्ची के साथ हुए रेप के बाद से ही उत्तर भारतीय लोगों, खासतौर पर बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों को निशाना बनाया गया था. आरोप लगा था कि 14 महीने की बच्ची के साथ बिहार के एक शख्स ने रेप किया है. उसके बाद से ही गुजरात में उत्तर भारतीय लोगों को पीटने की घटनाएं सामने आ रही थी.  

यहीं वजह थी कि गुजरात के कई जिलों से उत्तर भारतीय लोगों के पलायन की खबर सामने आई थी. इस मामले में ठाकोर सेना पर गुंडागर्दी करने का आरोप लगा. ठाकोर सेना के अध्यक्ष कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर हैं. ठाकोर सेना घर-घर जाकर लोगों को अपने-अपने राज्य वापस चले जाने के लिए कह रहे थे. वहीं कई वीडियो भी सामने आए थे जिसमें इन लोगों को बदसलूकी करते हुए देखा जा सकता था.

 

दरअसल अल्पेश ठाकोर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा रहा था, जिसमें दूसरे राज्यों के लोगों के लिए भड़काऊ भाषा का प्रयोग कर रहे था. अल्पेश ठाकोर ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था, "गुजरात में बाहर से आने वालें लोग यहां पर आकर क्राइम करते हैं और हमारे लोगों को उनके ही गांव में मरते हैं और अपराध करने के बाद वो अपने स्थान पर वापस चाले जाते हैं. वो लोग यहां पर मरूति और अन्य कंपनियों में काम करते है और हमारे लोगों को नौकरी नहीं मिलती है.'

इससे पहले गुजरात से हो रहे उत्तर भारतीयों के पलायन के मुद्दे पर ठाकोर सेना के मुखिया और कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर ने रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को सिरे से नकार दिया था. 

अल्पेश ठाकोर ने रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए कहा है कि ''मैं ऐसे कैसे कर सकता हूं.. मैं तो मानवतावादी हूं.. गुजरात में एक अफवा का बाजार चला .. 10 दिन से मैं अकेला अपील कर रहा हूं.. मैंने कहा कि देखों 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार हुआ है ..जिसने उसके साथ दुष्कर्म किया है उसे फांसी होनी चाहिए.. वो न किसी जाति का है न किसी धर्म का है उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए..''

DO NOT MISS