General News

नसीरुद्दीन शाह के विवादित बयान पर एक्टर इमरान हाशमी की प्रतिक्रिया, जानें क्या कहा...

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

एमनेस्टी इंटरनैशनल के ऐम्बैसडर बने नसीरुद्दीन शाह ने एक बार फिर देश के वर्तमान हालात पर सवालिया निशान खड़ा किया है. जिसपर बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन ने अपने इस वीडियो में केंद्र पर अभिव्यक्ति की आजादी को दबाने का आरोप लगाया है. इसपर अभिनेता इमरान हाशमी की प्रतिक्रिया सामने आई है.

नसीरुद्दीन शाह की टिप्पणी पर अभिनेता इमरान हाशमी ने कहा कि मैं अभी जो कुछ सोच रहा हूं उसे व्यक्त करने में सझम हूं. हाशमी का कहना है कि मुझे लगता है कि हमारे देश में बोलने की स्वतंत्रता है. इस विवाद को लेकर मुझे थोड़ी कम जानकारी है. इसलिए इस पर बोलना मेरे लिए थोड़ा गैर-जिम्मेदाराना होगा.

नसीरुद्दीन शाह के हालिया वीडियो को लेकर अभिनेता इमरान हाशमी ने कुछ भी कहना मुनासिब नहीं समझा.

गौरतलब है कि नसीरुद्दीन शाह का कहना है कि पूरे मुल्क में नफरत और ज़ुल्म का बेखौफ नाच ज़ारी है. 

बता दें, वीडियो के माध्यम से अधिकार समूह ने भारत सरकार को एक संदेश दिया कि उन्हें 'अपनी कार्रवाई को समाप्त करना चाहिए'. इस ट्वीट में नसीरुद्दीन शाह ने 'स्वतंत्र भारत' की बात की है

नसीरुद्दीन ने इस वीडियो में कहा है, 'अब हक़ के लिए आवाज़ उठाने वाले जेलों में बंद हैं. कलाकार, फंकार, अदीब, शायर सबके काम पर रोक लगाई जा रही है. जर्नलिस्ट को भी खामोश किया जा रहा है. मज़हब के नाम पर नफरतों की दीवारें खड़ी की जा रही हैं.'

इसके साथ ही देश की वर्तमान स्थिति को कटघरे मे खड़ा करते हुए शाह ने आरोप लगाया कि मासूमों का क़त्ल हो रहा है. पूरे मुल्क में नफरत और ज़ुल्म का बेखौफ नाच ज़ारी है. और इन सब के खिलाफ आवाज़ उठाने वालों के दफ्तरों पर रेड डाल कर के, उनके लाइसेंस कैंसिल करके, उनके बैंक अकाउंट्स फ्रीज करके उन्हें खामोश किया जा रहा है. 

नसीरुद्दीन शाह के इस वीडियों को 'अबकी बार मानव अधिकार' हैशटैग के साथ शेयर किया गया है. इस वीडियो के कैप्शन में लिखा गया है, '2018 में भारत में अभिव्यक्ति की आजादी और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के खिलाफ काफी कार्रवाई हुई. चलें, इस साल अपने संवैधानिक मूल्यों के लिए खड़े हों और केंद्र सरकार को कहे दें कि अब ये कार्रवाई बंद होनी चाहिए.'

वहीं, इस वीडियो को जारी करने के बाद ऐमनेस्टी इंडिया के सीईओ आकार पटेल ने भी अपना बयान जारी किया है. उन्होंने कहा, 'ऐसा लग सकता है कि देश में इस वक्त मानवाधिकार के रक्षकों और सिविल सोसायटी के सामने अड़चनें हैं, लेकिन मानवाधिकार हमेशा जीतता आया है और इस बार भी जीतेगा.'

इसे भी पढ़ें - एमनेस्टी इंडिया के VIDEO में बोले नसीरुद्दीन शाह, 'पूरे मुल्क में नफरत और ज़ुल्म का बेखौफ नाच ज़ारी है'

आकार पटेल ने कहा,'हम नसीर का आभार जताते हैं कि वे अनगिनत मानवाधिकार की रक्षा करने वालों के साथ आए हैं जो कि हमलों और प्रताड़ना के बाद भी सभी लोगों के न्याय, आजादी, समानता और सम्मान के लिए लड़ रहे हैं. जो कि सच्चे हीरो हैं.'

DO NOT MISS