Elections

राहुल गांधी का विवादित बयान, अमित शाह को 'हत्या का आरोपी' बताया

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'चौकीदार चोर है' कहने के मामले में सुप्रीम कोर्ट से आपराधिक अवमानना का नोटिस झेल रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक और विवादित बयान दे दिया है। उन्होंने मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा अध्य़क्ष अमित शाह को हत्या का आरोपी कह दिया है।

राहुल ने कहा 'भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाली भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह 'हत्या के आरोपी' है। इसके साथ ही उन्होंने अमित शाह के बेटे जय शाह को लेकर भी हमला बोला। राहुल ने कहा, 'हत्या के आरोपी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह।... वाह क्या शान है।.... क्या आपने जय शाह का नाम सुना है? वह जादूगर हैं ''


वहीं भाजपा ने इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। बीजेपी की ओर कहा गया है कि वह इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी। आपको बता दें कि सोहराबुद्दीन शेख और तुलसीराम कथित फर्जी मुठभेड़ों में अमित शाह को विषेश सीबीआई अदालत ने बरी कर दिया था। 

बता दें राफेसल मामले में सुप्रीम कोर्ट कांग्रेस अध्य़क्ष राहुल गांधी को आपराधिक अवमानना का नोटिस जारी किया । 30 अप्रैल को अगली सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को 30 अप्रैल को व्यक्तिगत पेशी से छूट दे दी है।

राहुल गांधी की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा  18 महीने से कैंपेन चल रहा है। हम अपनी बात पर अभी भी कायम हैं कि चौकीदार चोर है। CJI ने मीनाक्षी लेखी के वकील को कहा कि राहुल गांधी के हलफ़नामे में अपना जवाब दाखिल करे । मीनाक्षी लेखी की ओर से पेश मुकुल रोहतगी ने कहा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मान लिया है कि उन्होंने गलत बयान दिया है और कोर्ट ने कभी नहीं कहा कि चौकीदार चौर है। 

वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि राहुल गांधी ने अपने बयान पर दुख जताया है। राहुल ने माना है कि उन्होंने गलती की है। लेकिन खेद ब्रेकिट में लिखा है। हमारे हिसाब से ये कोई माफीनामा नहीं है। राहुल ने कहा है कि उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का आदेश नहीं पढा था। CJI ने मुकुल रोहतगी से पूछा  "चौकीदार कौन है" मुकुल ने कहा कि राहुल गांधी ने पूरे देश को कहा कि PM नरेंद्र मोदी "चौकीदार" चोर है. जबकि सुप्रीम कोर्ट ने कुछ नहीं कहा।

DO NOT MISS