Elections

हमने आतंकवाद के खिलाफ साहसिक कदम उठाए, कांग्रेस ने अपनाई ‘डरपोक’नीति : PM मोदी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों को लेकर संप्रग सरकार पर निशाना साधते हुए सोमवार को कहा कि उनकी सरकार ने आतंकवादी हमलों का जवाब देने के लिए पूर्ववर्ती कांग्रेस नीत सरकारों की कथित ‘‘डरपोक’’ नीति के विपरीत साहसिक कदम उठाए।

मोदी ने श्रीलंका में हुए आतंकवादी हमलों के एक दिन बाद महाराष्ट्र के नासिक में यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार के साहसिक रवैये के कारण ही भारत में आतंकवाद को नियंत्रित कर लिया गया है और वह जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों तक ही सीमित रह गया है।

उल्लेखनीय है कि श्रीलंका में गिरजाघरों और लग्जरी होटलों में हुए सिलसिलेवार हमलों में 290 लोगों की मौत हो गई है।

राफेल सौदे को हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएलए) के पास नहीं जाने देने के मुद्दे पर कांग्रेस के निशाने पर आए मोदी ने विपक्षी दल पर इस सरकारी कंपनी को खत्म करने का आरोप लगाया। एचएएल की एक इकाई नासिक में है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम के तहत रक्षा उत्पादन बढ़ाया है।

भाजपा-शिवसेना गठबंधन के नासिक, डिंडोरी और धुले लोकसभा क्षेत्रों से उम्मीदवारों के लिए चुनाव प्रचार करते हुए मोदी ने कहा कि श्रीलंका में ईस्टर के पवित्र अवसर पर ऐसे समय में विस्फोट हुए जब लोग शांति का संदेश दे रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘2014 से भारत में क्या हालात थे? आए दिन देश के अलग-अलग कोने में बम धमाके होते थे। कभी मुंबई, कभी पुणे, कभी हैदराबाद, कभी काशी, कभी अयोध्या, कभी जम्मू में बम विस्फोट होते थे।’’ 

मोदी ने कहा, ‘‘तब कांग्रेस-राकांपा सरकार ने क्या किया? वे सिर्फ श्रद्धांजलि सभाएं करते रहते थे, शोक व्यक्त करते थे। उनकी सरकार दुनिया भर में पाकिस्तान के नाम पर रोती रहती थी कि पाकिस्तान ऐसा करता है, पाकिस्तान वैसा करता है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन आपके चौकीदार ने क्या किया? आपके चौकीदार ने कांग्रेस-राकांपा सरकार की इस डरपोक रीति नीति को बदला।

उन्होंने 2016 सर्जिकल हमले और इस वर्ष फरवरी में बालाकोट हवाई हमले का स्पष्ट रूप से जिक्र करते हुए कहा कि सुरक्षा बल आतंकवाद की ‘‘फैक्ट्री में घुसे और सब कुछ बिना किसी भेदभाव के सफाचट कर दिया।’’ 

मोदी ने कहा कि हर आतंकवादी जानता है ‘‘मोदी उन्हें पाताल में भी खोज निकालेगा।’’ मोदी ने विपक्ष के किसी नेता का नाम लिए बगैर कहा कि जैसे ही वह वंशवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा की बात करते हैं, तो ‘‘कुछ’’ लोगों को करंट लगने लगता है।

उन्होंने कहा कि देशभर में लोकसभा चुनाव के पहले दो चरणों में भाजपा को मिली प्रतिक्रिया को देखकर विपक्ष बेचैन हो गया है।

मोदी ने प्याज उत्पादन के लिए जाने जाने वाले क्षेत्र में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने प्याज भंडारण क्षमता बढ़ाने और उसकी ढुलाई पर कर कम करने की कोशिश की।

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस बिचौलियों को लाभ पहुंचाने के लिए फसल की कीमतों से खेलती है। ‘‘मैंने इन बिचौलियों के खिलाफ लड़ाई लड़ी है।’’ 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हमारी सरकार बिचौलियों का शासन समाप्त करने के लिए काम कर रही है।’’ मोदी ने बाद में नंदुरबार में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि विपक्षी दल अफवाह फैला रहे हैं कि अगर वह (मोदी) सत्ता में लौटे तो आरक्षण में बदलाव होगा।

मोदी ने कहा कि वह सुनिश्चित करेंगे कि आरक्षण की मात्रा में छेड़छाड़ नहीं हो।

उन्होंने कहा, ‘‘जब तक मोदी यहां है, डॉ. बाबा साहेब आंबेडकर द्वारा हमें दिए गए आरक्षण को कोई छू भी नहीं सकता।’’ 

मोदी ने उत्तरी महाराष्ट्र में जनजाति बहुल निर्वाचन क्षेत्र के लोगों को आश्वस्त किया कि उनकी सरकार सुनिश्चित करेगी उन्हें उनकी जमीन से बेदखल नहीं किया जाए ।

मोदी ने कहा कि उत्तरी महाराष्ट्र में गन्ने की पैदावार होती है जिसका इस्तेमाल एथेनॉल के उत्पादन में हो सकता है। इससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा लेकिन कांग्रेस-राकांपा नेताओं ने कभी ऐसा होने नहीं दिया।

मोदी ने आरोप लगाया, ‘‘ये नेता तेल आयात में घूस पाते थे। एथेनॉल मिलाने के बाद अगर तेल आयात घटेगा तो उन्हें अपनी आमदनी घटने का डर है। ’’ 

प्रधानमंत्री ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी की टिप्पणी के लिए उनपर हमला किया जिसमें उन्होंने कथित रूप से कहा था कि जिन्हें खाना नहीं मिलता वो सेना में शामिल होते हैं और जवान बनते हैं।

मोदी ने कहा कि कुमारस्वामी के मुताबिक, हमारी सीमा की रक्षा करने वाले लोग अमीरों के बच्चे नहीं हैं और जिन्हें खाना नहीं मिलता, वे सैन्य बलों में शामिल होते हैं।


 

DO NOT MISS