Elections

चलती लोकल में डफली की थाप पर गुंज उठा 'लहराएगा अपना तिरंगा सारे हिंदुस्तान में, मोदी को वोट दे दो लोकसभा चुनाव में': देखें - VIDEO

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

मुंबई के लोकल ट्रेन में अनूठी परंपरा है। लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व चुनाव हो या फिर होली दिवाली त्योहार यात्री ट्रेन में ही मना लेते हैं। इस चुनावी माहौल में यात्री मोदी भजन गाते नजर आए। इस भजन के बोल हैं 'लहराएगा अपना तिरंगा सारे हिंदुस्तान में मोदी जी को वोट दे दो लोकसभा चुनाव में'

दरअसल , मुंबई लोकल ट्रेंनों में कई घंटों तक सफर करने वाले यात्रियों की संख्या लाखों में है। यह पिछले 68 साल से डफली और मंजीरे के साथ भजन कीर्तन करते आ रहे हैं । इनमें हिंदी , मराठी, राजेस्थानी, गुजराती भाषाओं के लोग एक साथ मिलकर भजन करते हैं। ऐसे में चुनावी मौसम में मोदी के भजन भी सुनाते है। 

बता दें करीब 68 साल पहले कुछ लोगों से शुरु हुए यह सफर निरंतर आगे बढ़ता जा रहा है। मुंबई की लोकर ट्रेन का मतलब भीड़, धक्का- मुक्की, परेशानी का सबब ही समझा जाता है लेकिन इन भजन मंडलियों ने ट्रेंन का अंदर की छवी बदल कर रख देती है। भीड़ में भी चेहर पर मुस्कान, शांति, स्थिरता और आपसी भाईचारा का उराहरण पेश हो रहा है। 

यहीं नहीं लोकल के यह यात्री जब जॉब से रिटायर होते हैं तो भी उनका आना नहीं छूटता और महीने में मडंली की ओर से तय किए गए दिन पर पहुंचकर परिपाटी को जीवंत रखने के लोगों को प्रेरणा देते हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सबसे पहला भजन मंडल उपनगरीय लोकल से साल 1951 के दौरान बना था, जिसका नाम जय अंबे प्रवासी भजन मंडला था। धीरे - धीरे सभी लोकल ट्रेनों में मंडलियों का बनाना शुरू हो गया । यह भजन मंडलियां आपस में राशि एकत्रित कर सामाजिक कार्य को भी किया करते हैं। इस तरह से सेवा का सिलसिला भी शुरू हो गया । मंडलियों ने आपदा राहत कोष में भी अपना योगदान दिया है।

यह भी पढ़े - SUPER EXCLUSIVE: मुंबई हादसे पर BMC की रिपोर्ट में हुआ बड़ी गड़बड़ी का खुलासा, सबूत बनीं ये तस्वीरें . . . . . 

यह भी पढ़े-  लौट आई ढिंचैक पूजा, ‘जब कुड़ी दिल्ली दी नाचे' गाना हुआ रिलीज, यूजर बोले- 'आतंक' फैलना बंद करो . . . 

 

DO NOT MISS