Elections

तृणमूल कांग्रेस ने विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ी, ममता ध्यान बांटने का कर रही हैं प्रयास: आदित्यनाथ

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को तृणमूल कांग्रेस पर समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने का आरोप लगाया और कहा कि पश्चिम बंगाल की उनकी समकक्ष ममता बनर्जी भाजपा के खिलाफ झूठी अफवाहें फैलाकर लोगों का ध्यान बांटने का प्रयास कर रही हैं।

आदित्यनाथ ने कोलकाता में संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ कल जो कुछ हुआ, हम उसकी निंदा करते हैं। ईश्वर चंद्र विद्यासागर भारत के महानतम सपूतों में एक और समाज सुधारक थे। यह तृणमूल ही है जिसने उनकी प्रतिमा तोड़ी और अब वह ध्यान बांटने के लिए भाजपा पर दोषारोपण कर रही है।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस और बनर्जी इस घटना का इस्तेमाल कर अपने गलत कार्यों से लोगों का ध्यान बंटाने का प्रयास कर रही हैं।

जब उनसे पूछा गया कि क्या बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए तब उन्होंने दावा किया कि राज्य में स्थिति उसी दिशा में बढ़ रही है जहां केंद्रीय हस्तक्षेप होना चाहिए।

उन्होंने चुनाव आयोग से चुनाव में हिंसा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया और कहा कि उसे मूकदर्शक नहीं रहना चाहिए।

बता दें,  तृणमूल कांग्रेस नेता डेरक ओ ब्रायन ने नई दिल्ली में संवाददाता सम्मेलन में कहा, “वीडियो न सिर्फ स्पष्ट रूप से यह स्थापित करता है कि भाजपा ने क्या किया बल्कि यह भी साबित करता है कि उसके प्रमुख अमित शाह झूठे हैं।” 

उन्होंने कहा, “कोलकाता की सड़कों पर स्तब्धता और गुस्सा है। कल जो हुआ उसने बंगाली गौरव को आहत किया।” टीएमसी अपने पास मौजूद वीडियो चुनाव आयोग को सौंपेगी और उन्हें प्रमाणित कर रही है। 

पार्टी ने एक वीडियो और वाट्सअप संदेश भी दिखाए जिसमें लोगों से तृणमूल कांग्रेस और पुलिस से लड़ने के लिये लोगों से अमित शाह के रोडशो में रॉड और हथियारों के साथ पहुंचने को कहा गया था। 

ओब्रायन ने कहा, “हम ‘विद्यासागर खत्म, जोश कहां है’ जैसे नारों की आवाज हासिल करने और उनके प्रमाणीकरण का प्रयास कर रहे हैं।”

DO NOT MISS