Elections

आजम की बदजुबानी पर महिला नेताओं के मौन पर बोलीं जयाप्रदा, कहा-'मुस्लिम वोट बैंक को साधने के लिए साधी चुप्पी'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश के रामपुर से समाजवादी पार्टी उम्मीदवार आजम खां की अपमान टिप्पणी पर अब जय प्रदा ने सामने आत हुए करारा पटलवार किया है। उन्होंने 'पूछता है भारत' कार्यक्रम में  रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चिफ अर्नब गोस्वामी से बात करते हुए आजम पर जमकर हमला बोला।


जया ने कहा कि यह मेरे लिए कोई नई बात नहीं है, आपको याद होगा कि मैं '2009 'में उनकी पार्टी का एक उम्मीदवार थी, जब उन्होंने मेरे खिलाफ टिप्पणी करने के बाद किसी ने भी मेरा समर्थन नहीं किया था। मैं एक महिला हूं और जो उन्होंने कहा, मैं उसे दोहरा नहीं सकती। पता नहीं मैंने उस क्या किया कि वह ऐसी बातें कह रहा है।

 वहीं अपनी अपमान पर महिला नेताओं की  चुप पर जयाप्रदा ने कहा कि मुसलिम वोट नाराज नहीं हो जाएं इसलिए आजम खान के बयान पर प्रियंका, ममता जैसे बड़े नेता टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं।

जयाप्रदा ने कहा मुझे एक महिला होने के नाते मायवत से उम्मीद है कि वह मेरा सपोर्ट करेगीं। 

बता दें रिपब्लिक भारत पर आजम खान की खबर दिखाए जाने के बाद आजम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। कल दोपहर लगभग 3:15 बजे मंच से जनसभा को संबोधित करते हुए आज़म खान ने जयप्रदा पर अमर्यादित टिप्पड़ी की थी। जिसका संज्ञान लेते हुए क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट ने आज़म खान के खिलाफ तहरीर देकर मुकद्दमा दर्ज कराया है।

साथ ही राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी संज्ञान हुए कहा कि वो इस मामले में आजम के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत करेगा।

आपको बता दें कि आजम खान ने जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी की थी, उनके बयान ने राजनीति की सारी मर्यादाएं भी लांघ दी, आजम एक महिला का सम्मान भी भूल गए, उन्होंने ऐसा बयान दिया है कि वो हम आपको सुना भी नहीं सकते। उधर बीजेपी ने भी आजम खान के बयान पर पलटवार किया है और अखिलेश और मायावती से जवाब मांगा है। हालांकि अब उन्होंने अपने बयान पर सफाई दी है।

आजम खान ने कहा कि उन्होंने अपने बयान में किसी का नाम नहीं लिया है। उन्होंने कहा कि अगर मैं दोषी साबित हो जाता हूं तो मैं लोकसभा चुनाव 2019 की उम्मीदवारी से अपना नाम वापस ले लूंगा और चुनाव नहीं लड़ूंगा।

DO NOT MISS