Elections

डिग्री विवाद पर स्मृति का कांग्रेस को करारा जवाब: 'चाहे जितना भी अपमानित कर लें, लेकिन मुझे नहीं रोक सकते'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

यूपी के अमेठी से बीजेपी की उम्मीदवार स्मृति ईरानी के डिग्री विवाद पर कांग्रेस के हमले के बाद केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस पर पलवार किया है। स्मृति ईरानी ने रिपब्लिक भारत से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस चाहे मुझे कितना भी अपमानित करे लेकिन मुझे रोक नहीं सकती । उन्होंने कहा कि 'मुझ पर हमला करना उनका अधिकार है, कांग्रेस के चेले - चपाटे चाहे जो भी करे लें, लेकिन वे मुझे नहीं रोक सकते हैं। ' 

अमेठी के गांव में प्रचार करने पहुंची स्मृति ईरानी ने आगे कहा, वे जितना भी अपमानित करेंगे, मुझे उतनी ही ताकत मिलेगी कि मैं उनसे लड़ूं।' उन्होंने कहा कि क्योंकि मैं कांग्रेस पार्टी के नामदार के खिलाफ लड़ रही हूं इसलिए उनसे यह सब देखा नहीं जा रहा है। 

बता दें कि स्मृति ईरानी के नामांकन पत्र में उनकी डिग्री का जिक्र कर कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने ईरानी पर बेहद तीखा तंज कसा है। उन्होंने स्मृति के हिट टीवी सीरियल 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' की तर्ज पर इरानी की डिग्री पर कटाक्ष किया है। 

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने मशहूर सीरियल ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ के गीत की तर्ज पर कहा, ‘‘क्वालीफिकेशन के रूप बदलते हैं, नए नए सांचे में ढलते हैं। एक डिग्री आती है, एक डिग्री जाती है, बनते एफेडिएविट नए हैं... क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थी।’’ 

उन्होंने केंद्रीय मंत्री के पिछले कुछ चुनावों के हलफनामों की प्रति जारी करते हुए कहा, ‘‘स्मृति ईरानी जी बताया कि किस तरह से ग्रेजुएट से 12वीं पास हो जाते हैं, यह मोदी सरकार में ही मुमकिन है। 2004 के लोकसभा चुनाव के अपने हलफनामे में स्मृति बीए थीं। फिर 2011 राज्यसभा के चुनावी हलफनामे में वह बीकॉम फस्ट ईयर बताती हैं। इसके बाद 2014 के लोकसभा चुनाव में फिर वह बीए पास कर लेती हैं। अब फिर से वह बीकॉम फर्स्ट ईयर की डिग्री हो गई है।’’ 

प्रियंका ने आरोप लगाया, ‘‘उन्होंने देश को झूठ बोला है, देश को बरगलाया है। यह साबित होता है कि भाजपा के नेता किस तरह से झूठ बोलते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमें दिक्कत नहीं है कि वह ग्रेजुएट नहीं हैं। मुद्दे की बात यह है कि मंत्री साहिबा इतने समय से गलत हलफनामा दे रही थीं।’’ 

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘अगर उनमें कोई नैतिकता है तो मंत्री पद से इस्तीफा दें और उन्हें चुनाव के लिए अयोग्य ठहराए जाए।’’ गौरतलब है कि स्मृति ईरानी अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं।

( इनपुट-भाषा से भी )

DO NOT MISS