Elections

BJP और अपना दल के बीच लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ने पर बनी सहमति, मिर्जापुर से चुनाव लड़ेंगी अनुप्रिया पटेल

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश में भाजपा और अपना दल के बीच कुछ समय से चल रही राजनीतिक खींचतान के बाद शुक्रवार को दोनों दलों ने फिर मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया। इसके तहत अपना दल दो सीटों पर चुनाव लड़ेगा।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ यहां अपना दल :एस: की नेता अनुप्रिया पटेल एवं अन्य नेताओं की बैठक में लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ने का निर्णय किया गया।

अमित शाह ने अपने ट्वीट में कहा, “फिर एक बार-मोदी सरकार” के संकल्प के साथ ‘भाजपा-अपना दल’ गठबंधन उत्तरप्रदेश में लोकसभा चुनाव साथ-साथ लडेगा।’’ भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अपना दल प्रदेश की दो सीटों पर चुनाव लडेगा, जिसमे अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर से चुनाव लड़ेंगी और दूसरी सीट पर दोनों दलों के नेता बैठकर चर्चा करेंगे।

गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भी अपना दल और भाजपा के बीच उत्तर प्रदेश में समझौता हुआ था।

अनुप्रिया पटेल की पार्टी को 2014 के आम चुनाव में लोकसभा की दो सीटों पर जीत मिली थी। इनमें मीर्जापुर की सीट से अनुप्रिया पटेल और प्रतापगढ़ लोकसभा सीट से पार्टी नेता कुंवर हरिवंश सिंह चुनाव जीते थे। चुनाव जीतने के बाद अनुप्रिया पटेल को केंद्र में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग का राज्यमंत्री भी बनाया गया। हालांकि पिछले कुछ महीनों से दोनों दलों के बीच रिश्ते तल्ख होने की खबरें आ रही थी।

वहीं बात करें अगर रिपब्लिक टीवी और सी वोटर के सर्वे के मुताबिक सबसे ज्यादा लोकसभा सीट वाले उत्तर प्रदेश में कांटे का मुकाबला होने वाला है। 
 
किसके खाते में कितनी सीटें
रिपब्लिक टीवी और सी वोटर के सर्वे के मुताबिक उत्तर प्रदेश में अगर महागठबंधन होता है तो सीटों का अनुमान कुछ इस तरह से होगा।। एनडीए- 29 सीट, यूपीए को 4 सीटें वहीं महागठबंधन को 47 सीट मिल सकती है।
 
किसको कितना वोट शेयर
अब हम आपको उत्तर प्रदेश में वोट शेयर का अनुमान बताते हैं। यूपीए को 10.4% वोट, एनडीए को 41%, महागठबंधन को 43.4% वोट जबकि अन्य को 5.4% वोट मिलने का अनुमान है।
 
 उत्तर प्रदेश में गठबंधन ना होने की स्थिति में किसके खाते में कितनी सीटें …. 
सर्वे के मुताबिक उत्तर प्रदेश में अगर महागठबंधन नहीं  होता है तो एनडीए को 72 सीट, यूपीए को 2 सीट समाजवादी पार्टी को 4 सीट और बहुजन समाजवादी पार्टी को 2 सीट मिलने का अनुमान है।
 
उत्तर प्रदेश में गठबंधन ना होने की स्थिति में किसको कितना वोट शेयर

उत्तर प्रदेश में अगर महागठबंधन नहीं होता है तो एनडीए को 41%, यूपीए को 10.4%, समाजवादी पार्टी को 23.1% और बीएसपी को 20.3% वोट शेयर मिल सकता है जबकि अन्य को भी 5.1 % वोट शेयर का अनुमान है।

योगी ने बड़ी जीत का जताया भरोसा

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर-एन-चीफ अर्नब गोस्वामी से एक्सलूसिव बातचीत में कहा कि यूपी में भारतीय जनता पार्टी 74 से ज्यादा सीटें जीतेगी, अमेठी और आजमगढ़ में भी हम जीतेंगे।

(इनपुट- भाषा से)

DO NOT MISS