Elections

तेलंगाना पुलिस ने 5.8 करोड़ रुपए किए जब्त, TDP-कांग्रेस के नेताओं को होनी थी डिलीवरी

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

कहते हैं राजनीति में सबकुछ संभव है. देश में चुनाव का माहौल है. सियासी शोर के बीच चुनावी रणभूमि में फतेह करने का इरादा लिए सभी पार्टियां हूंकार भर रही हैं. अपना-अपना दमखम दिखाने के लिए हर कोई बेताब है. लेकिन तेलंगाना चुनाव की सरगर्मी के बीच जो वाकया सामने आया है उससे कई सवाल खड़े होने लगे हैं. 

आगामी 7 दिसंबर को तेलंगाना में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने हैं. ऐसे में तेलंगाना पुलिस ने हैदराबाद-वारंगल हाई-वे पर जांच के दौरान 'पांच करोड़ 80 लाख' रुपए बरामद किए हैं. इसे एक बड़ी कार्रवाई के तौर पर देखा जा रहा है. जानकारी के मुताबिक 5.8 करोड़ रुपए के इस काले धन की इस राशि को गाड़ी के सीट के नीचे छिपाया गया था और उसे कवर कर दिया गया था. 

जांच के दौरान सन्न कर देने वाला खुलासा हुआ. बताया जा रहा है कि इस नगद राशि को तेलंगाना चुनाव के लिए उपयोग किय जाना था. इस काले धन को TDP और कांग्रेस के तीन नेताओं को दिया जाना था.

जांच में ये बात सामने आई है कि जिस कार से नकद वसूल की गई थी. वो हैदराबाद के एक 55 साल के व्यवसायी गाड़ी थी. उन्होंने अपने ड्राइवर को राजनेताओं को काले धन देने के लिए भेजा था. व्यवसायी हैदराबाद के गोशामहल इलाके से है और शेल कंपनियों में निवेश करने के लिए जाना जाता है.

मंगलवार को उनके चालक और अन्य दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया. बताया जा रहा है कि ये नकदी टीडीपी के एनडी नागेश्वर राव, कोंडा सुरेखा के कांग्रेस विधायक पति कोडा मुरली और वारंगल पूर्व के विधायक रविचंद्रन को भेजा जाना था.

बता दें, TRS, BJP और TDP-कांग्रेस गठबंधन राज्य में अधिकतम सीटें पाने के लिए अपनी एड़ी-चोटी का जोर लगा रही हैं. ऐसे में इस बड़ी कार्रवाई में TDP-कांग्रेस का कथित नाम सामने आने पर उन्हें खासा परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. चुनाव का काउंटडाउन शुरू हो चुका है. 

जानकारी के मुताबिक अबतक तेलंगाना में मतदान से पहले कई जगह से पुलिस अबतक करीब 111 करोड़ रुपए की नकदी और अवैध सामान जब्त कर चुकी है.

7 दिसंबर को तेलंगाना में होने वाले चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे. 

DO NOT MISS