Elections

BJP के 'मुमकिन को नामुमकिन' बनाने की जुगत में जुटी सपा-बसपा- RJD, करेंगी एक साथ रैली

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश में महागठबंधन सहयोगी सपा, बसपा और रालोद के शीर्ष नेता अप्रैल के पहले सप्ताह से ताबड़तोड़ संयुक्त रैलियां कर अपने-अपने कार्यकर्ताओं को भाजपा के खिलाफ एकजुटता का संदेश देंगे।

उन्होंने कहा कि संयुक्त रैलियों से यह संदेश जाएगा कि गठबंधन में शामिल दलों के कार्यकर्ता एकजुट हैं और वे भाजपा के 'मुमकिन' को अपने प्रयासों से 'नामुमकिन' में बदलने को तैयार हैं।

सपा के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने शुक्रवार को 'भाषा' को बताया कि आसन्न लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन ने अपने प्रत्याशियों की जीत और केन्द्र की सत्ता से भाजपा की बेदखली सुनिश्चित करने के लिए संयुक्त रैलियां करने का फैसला लिया है।

चौधरी ने बताया कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, बसपा मुखिया मायावती और रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह की संयुक्त रैलियों का सिलसिला नवरात्र के शुभ दिनों में 7 अप्रैल से शुरू होकर 16 मई तक चलेगा। इस दौरान तीनों दलों के शीर्ष नेता 11 रैलियां करेंगे। प्रचार सामग्री तथा झंडे में इन दलों के नेताओं के चित्र तथा चुनाव चिह्न संयुक्त रूप से प्रदर्शित किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि पहली रैली 7 अप्रैल को देवबंद में होगी। इस संयुक्त रैली में सहारनपुर, कैराना, बिजनौर और मुजफ्फरनगर संसदीय क्षेत्र के कार्यकर्ता शामिल होंगे। जबकि 13 अप्रैल की रैली बदायूं लोकसभा क्षेत्र में होगी।

चौधरी ने बताया कि 16 अप्रैल आगरा में होने वाली रैली में आगरा, फतेहपुर सीकरी तथा मथुरा लोकसभा क्षेत्रों के तीनों दलों के कार्यकर्ता हिस्सा लेंगे। तीसरी संयुक्त रैली 19 अप्रैल को मैनपुरी संसदीय क्षेत्र में होगी।

ज्ञातव्य है कि मैनपुरी से सपा ने पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव को टिकट दिया है। चर्चा है कि इस रैली में मुलायम भी शामिल हो सकते हैं। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

सपा प्रवक्ता ने बताया कि 20 अप्रैल को रामपुर में आयोजित संयुक्त रैली में मुरादाबाद, रामपुर और सम्भल लोकसभा क्षेत्रों के कार्यकर्ता हिस्सा लेंगे। इसी दिन एक रैली फिरोजाबाद में भी होगी।

उन्होंने बताया कि कन्नौज संसदीय क्षेत्र में गठबंधन की संयुक्त रैली 25 अप्रैल को होगी जबकि एक मई को फैजाबाद में होने वाली संयुक्त रैली में बाराबंकी, फैजाबाद तथा बहराइच लोकसभा क्षेत्र के कार्यकर्ता शामिल होंगे। इसके अलावा आठ मई को आजमगढ़ में होने वाली रैली में आजमगढ़ और लालगंज लोकसभा क्षेत्र के कार्यकर्ता हिस्सा लेंगे।

 चौधरी ने कहा कि 13 मई को गोरखपुर, महाराजगंज और कुशीनगर लोकसभा सीटों के लिए संयुक्त रूप से एक रली गोरखपुर में होगी। गठबंधन की अंतिम रैली 16 मई को वाराणसी में होगी। यह रैली संयुक्त रूप से वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर और राबर्ट्सगंज लोकसभा सीटों के लिए होगी।

 

उन्होंने कहा कि सपा-बसपा-रालोद के कार्यकर्ता, पदाधिकारी तथा विधायक, सांसद सभी परस्पर समन्वय के साथ चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। सभी का एक ही लक्ष्य है ‘‘लोकतंत्र और संविधान की रक्षा के लिए भाजपा को दिल्ली की गद्दी तक पहुंचने से रोकना।’’