Elections

शशि थरूर ने इमरान खान की तारीफ में गढ़े कसीदे, 'टीपू सुल्तान' की पुण्यतिथि पर PAK पीएम ने किया था Tweet

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद शशि थरूर ने 'टीपू सुल्तान' को उनकी पुण्यतिथि पर याद करने पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की प्रशंसा की। जिसके बाद नया सियासी विवाद खड़ा हो गया है और बीजेपी सहित दक्षिणपंथी संगठन उनके विरोध में उतर आएं हैं।

दरअसल अक्सर अपने विवादित बयान के चलते पार्टी को मुश्किल में डालने वाले थरूर ने मंगलवार को कहा कि 'व्यक्तिगत रूप से इमरान खान के बारे में एक बात मुझे पता है कि भारतीय उपमहाद्वीप के साझा इतिहास में उनकी रुचि वास्तविक और दूरगामी है। उन्होंने पढ़ा; वो ध्यान रखते हैं। हालांकि, ये निराशाजनक है की एक पाकिस्तानी नेता ने एक महान भारतीय नायक को याद करने के लिए उनकी पुण्यतिथि को चुना।'

बता दें, शनिवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने टीपू सुल्तान को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए लिखा था कि  'आज 4 मई को टीपू सुल्तान की पुण्यतिथि है - एक व्यक्ति जिसकी मैं प्रशंसा करता हूं, क्योंकि वह आजादी पसंद करता है और अपनी जिंदगी जीने के लिए लड़ता है।'

अब थरूर के बयान पर बीजेपी ने तीखा हमला बोला है और कांग्रेस पर ध्रुवीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया है।

बीजेपी के वरिष्ठ प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हाराव ने कहा कि कांग्रेस हमेशा मौका ढूंढती रहती है कि इमरान खान की तारीफ करें, टीपू सुल्तान के बारे में इमरान खान का बोलना संप्रदायिक सोच है । शशि थरूर ने क्यों इमरान खान के बयान का स्वागत किया है ,कांग्रेस हमेशा ध्रुवीकरण की कोशिश करती है। 

यह पहली बार नहीं है जब इमरान खान ने टीपू सुल्तान की वीरता की प्रशंसा की है। फरवरी में पुलवामा आतंकी हमले के बाद बढ़े भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच संसद के संयुक्त बैठक में प्रधानमंत्री ने सुल्तान की वीरता की सराहना की थी।

टीपू सुल्तान के बारे में कहा जाता है कि टीपू ने चौथे एंग्लो-मैसूर युद्ध में बहादुरी से लड़ाई लड़ी, लेकिन श्रीरंगपट्टन की घेराबंदी में मारा गया, क्योंकि फ्रांसीसी सैन्य सलाहकारों ने सुल्तान को गुप्त रास्ते से भागने के लिए कहा था, लेकिन टीपू का जवाब था: 'भेड़ के रूप में एक हजार साल से एक बाघ के रूप में एक दिन जीना बेहतर है।'

DO NOT MISS