Elections

असदुद्दीन ओवैसी के नरेंद्र मोदी-नीतीश कुमार को 'लैला-मजनू' कहने पर बोले शहनवाज, 'उन्होंने देश की जनता का अपमान किया हैं'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलिमीन (एआईएमआईएम) सांसद असदुद्दीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार की तुलना 'लैला-मजनू' की जोड़ी से की है। ओवैसी ने यह भी कहा कि जब इन दोनों की दास्तां लिखी जाएगा तो उसमें दर्ज होगा कि जब से ये दोनों साथ आए, हिंदू-मुसलमान तनाव में आए। 


इसपर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा असददुद्दीन ओवैसी साहब को भाषा की मर्यादा नही तोड़नी चाहिए नीतीश कुमार एक सीनियर लीडर है और नरेंद्र मोदी जी देश के प्रधानमंत्री है  उनको लैला मजनू कहना ये बिहार और देश की जनता का अपमान किया है अदादुद्दीन ओवैसी ने इस तरह की भाषा कहीं से स्वीकार नही हो सकती है क्या ज़बान बोली जा रही है क्या ये ज़बान शोभा देती है बुरी ज़बान वालो को देश ने कभी नेता नही माना कभी किसी का अपमान करके कोई नेता नही बन सकता है। जिस तरह की भाषा बोली है ये बहुत दुखद है और में इसकी निंदा करता हूँ।


वहीं ईवीएम के सवाल पर शहनवाज ने कहा कई नेता खाली हो गए है जैसे चंद्रबाबू नायडू आंध्र में बुरी तरह हार गए है। उनको खुद अहसास हो गया है कि चुनाव में जनता उनके खिलाफ है। और वो अब दिल्ली आए है और दिल्ली में इनका काम है कभी अवार्ड वापसी गैंग साथ लगते थे कभी देश मे संविधान खतरे में है देश मे सौहार्द खतरे में है इस तरह की बात करते रहे है लेकिन देश का संविधान खतरे में नही है क्योंकि देश के संविधान ने बाबा साहेब ने ऐसा संविधान देश को दिया कि आज गरीब का बेटा देश का प्रधानमंत्री है और देश मे खतरा है तो किसी को तो चोरों को खतरा है लूटने वालो को खतरा है इस मुल्क से मोहब्बत करने वाले किसी को खतरा नही है ।

सवाल - अभी तो पहले चरण का चुनाव हुए तो क्या इस मव्वेटिंग को इन तरह से समझ जाएं की विपक्ष ने पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली है या हार होटी है तो उसकी भूमिका पहले ही तैयार कर ली जाए।

शहनवाज ने कहा अभी से ये लोग चुनाव आयोग को दोष दे रहे है EVM को दोष दे रहे हैं दु:प्रचार को दोष दे रहे है हमारा मानना है कि पहले फेज में ही विपक्ष ने देख लिया है हवा का रुख पहचान लिया है कि हवा का रुख बता रहा है की नरेंद्र मोदी आने वाले है और हमारे विरोध में जो लोग है पहले से उनकी सीट घटने वाली है


सवाल - क्या इसीलिए ये पृष्ठभूमि तैयार की जा रही कि हर गए तो ठीकरा EVM फोड़ दे।
 

शहनवाज ने कहा जब जीत जाए तो EVM बहुत अच्छा है और हर जाए तो EVM बहुत खराब इन लोगों को मालूम है अच्छी तरह से की EVM तो बहाना है उन लोगों को चुनाव हारना है।


सवाल - देवेगौड़ा ने कहा है कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार दोबारा बनती है तो लोकतंत्र खतरे में आ जायेगा 

शहनवाज ने कहा लोकतंत्र तो मजबूत है लोकतंत्र में लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव होता है और जकनता तय करती है किसको प्रधानमंत्री बनायेनंगे देवगौड़ा जी की भी हालत खराब है चुनाव के मैदान में तो सब लोगों का टारगेट है कि मोदी जी को को गाली दो ये लोग जितना मोदी जी को गाली देंगे जनता उनसे उतना ही प्यार करेगी ।
 

DO NOT MISS