Elections

तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी पर साधा निशान, कहा- 'जन्म से लेकर 55 वर्ष तक वो अगड़े थे फिर एक दिन अचानक पिछड़े बन गए'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण के तहत बिहार की पांच लोकसभा सीटों किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर और बांका में कड़ी सुरक्षा के बीच बृहस्पतिवार सुबह सात बजे मतदान के शुरू हो गया और सुबह आठ बजे तक करीब 5.3 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। 

वहीं चुनावी माहौल में राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि नरेंद्र मोदी जी नक़ली पिछड़े है। जन्म से लेकर 55 वर्ष तक वो अगड़े थे फिर एक दिन अचानक पिछड़े बन गए। सच्चा, अच्छा और असली जन्मजात पिछड़ा कभी भी झूठा,बनावटी,मिलावटी,सजावटी और दिखावटी नहीं होता। पिछड़ों को बेवक़ूफ़ समझे है का गुजराती महोदय? क्या किए है पिछड़ों के लिए अगड़े महोदय?

बता दें तीसरे चरण के लिए महाराष्ट्र के माढ़ा में  प्रधानमंत्री ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस के नामदार मेरे पिछड़े होने पर निशाना साध रहे हैं, हमेशा वह मेरी हैसियत बताते हैं। अब वह पूरे पिछड़े समाज को चोर बता रहे हैं, और गाली दे रहे हैं लेकिन मोदी ये बर्दाश्त नहीं करेगा।

रैली में मोदी ने कहा कि कुछ राजनीतिक दलों को ये मंजूर नहीं है, लेकिन मैं उनके सपनों को सफल नहीं होने दूंगा। और इनके बीच में दीवार बनकर खड़ा रहूंगा. उन्होंने कहा कि आज दुनिया के शक्तिशाली राष्ट्र भी भारत के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर चलने में गर्व अनुभव करते हैं।

इधर बिहार में नीतीश कुमार के गढ़ समेत पांच संसदीय क्षेत्रों में कुल 68 उम्मीदवार चुनावी मैदान में डटे हैं जिनमें तीन महिला प्रत्याशी भी शामिल हैं । सबसे अधिक बांका में 20 और भागलपुर और कटिहार में नौ—नौ उम्मीदवार हैं । भाजपा 2014 में इन सभी पांचों सीटों पर असफल रही थी। राजग में सीटों के बंटवारे के तहत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के खाते में ये सीटें गयी है जिसके उम्मीदवार इन सीटों से राजग के प्रत्याशी के तौर पर अपना भाग्य आजमा रहे हैं । जदयू ने पूर्णिया से अपने निवर्तमान सांसद संतोष कुमार कुशवाहा को, भागलपुर से अजय मंडल को, बांका से गिरधारी यादव को, कटिहार से दुलाल चंद्र गोस्वामी को और किशनगंज से महमूद अशरफ को अपना उम्मीदवार बनाया है।

विपक्षी महागठबंधन में शामिल राजद ने भागलपुर से अपने निवर्तमान सांसद शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल और बांका से निवर्तमान सांसद जयप्रकाश नारायण यादव को अपना उम्मीदवार बनाया है जबकि किशनगंज से कांग्रेस ने मोहम्मद जावेद को अपना उम्मीदवार बनाया है तथा उदय सिंह कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। उन्होंने 2009 में भाजपा के टिकट पर पूर्णिया की सीट जीती थी लेकिन वह 2014 के लोकसभा चुनाव में हार गए थे। किशनगंज में इस बार असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने अख्तरूल इमान को अपना उम्मीदवार बनाया है ।

पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत दिग्विजय सिंह की पत्नी पुतुल देवी निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनावी मैदान में डटी हुई हैं ।

DO NOT MISS