Elections

अमित शाह बोले, पूर्ववर्ती कांग्रेस नीत सरकार के कुकर्म का परिणाम हैं NPA

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने बैंकों की गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए) को लेकर शुक्रवार को कांग्रेस पर पलटवार किया और कहा कि यह एनपीए तो विपक्षी दल के पूर्ववर्ती शासन के ‘‘कुकर्म का परिणाम’’ है. इसके साथ ही शाह ने कहा कि मोदी सरकार आने के बाद विजय माल्या व नीरव मोदी जैसे लोग डरकर विदेश भाग गए.

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी चुनावी सभाओं में बैंकों के एनपीए का मुद्दा व नीरव मोदी, विजय माल्या के कर्ज लेकर विदेश भागने का मुद्दा प्रमुखता से उठाते आ रहे हैं.

अमित शाह ने इसका जिक्र करते हुए कहा कि राहुल आज जगह-जगह एनपीए की बात कर रहे हैं लेकिन ‘ये जो एनपीए अब हो रहे हैं वो आपके शासन में, आपके भ्रष्टाचार से दिए गए कर्ज के हो रहे हैं. हमारे लोन के नहीं हो रहे. एक भी एनपीए ऐसा नहीं है जो नरेंद्र मोदी सरकार में लोन दिया गया.’ उन्होंने कहा, ‘‘आपके कुकर्म का परिणाम हैं ये एनपीए.’’

वहीं एक प्रमुख अखबार में छपी खबर का हवाला देते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस अध्यक्ष से जवाब देने को कहा. खबर का जिक्र करते हुए उन्होंने राबर्ट वाड्रा का नाम लिए बिना कहा, ‘‘एक बहुत बड़ी कंपनी को हजारों करोड़ रुपए का कर्ज मिला और इसका कमीशन गांधी-नेहरू परिवार के दामाद के पास पहुंचा. उन कंपनियों ने कमीशन के इस पैसे से बीकानेर के पास 150 हेक्टैयर जमीन खरीदी. यह जमीन औने पौने दाम पर खरीदी गई. इस जमीन से अरबों करोड़ों रुपए दामाद की कंपनी के खाते में गए.’’

शाह ने कहा, ‘‘ मैं कांग्रेस अध्यक्ष से पूछना चाहता हूं कि आप इस खबर पर जवाब देना चाहेंगे या नहीं.’’ नीरव मोदी, विजय माल्या के बैंकों से कर्ज लेकर विदेश भागने पर सवाल उठाए जाने पर शाह ने कहा, ‘‘ये सारे लोन आपके समय में दिए गए हैं और ये लोग कांग्रेस के समय इसलिए नहीं भागते थे क्योंकि उनको डर ही नहीं था. वे मानते थे इनके साथ तो अपनी पार्टनरशिप चल रही है. जैसे ही मोदी सरकार आई, उन्हें डर लगने लगा कि सलाखों के पीछे जाना पड़ेगा और उन्होंने भागना शुरू कर दिया.’’ शाह ने कहा, ‘‘कोई कहीं भी भाग जाए, देश की पाई-पाई हम वापस लाने का काम करेंगे.’’

DO NOT MISS