Elections

राजस्थान: BJP की बड़ी कार्रवाई, 11 नेताओं को दिखाया पार्टी से बाहर का रास्ता ..

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं. चुनाव के मद्देनजर नेता टिकट पाने के लिए अपनी ही पार्टी के विरोध में खड़े हो रहे हैं. ताजा मामला राजस्थान का है जहां पर 11 नेताओं को भाजपा ने पार्टी से 6 साल के लिए निकाल दिया है. बता दें, ये नेता पार्टी के विरोध में आपनी आवाज बुलंद कर रहे थे. स्थिति पार्टी के खिलाफ ना जाए इसे देखते हुए पार्टी ने इन लोगों पर बड़ी कार्रवाई की है. 

भारतीय जनता पार्टी ने जिन 11 लोगों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया है उनमें से चार मंत्री हैं. इन चार लोगों के नाम सुरेंद्र गोयल, राजकुमार  रिणवां, हेम सिंह भड़ाना, डी रावत है. इनके अलावा तीन विधायक है जिनका नाम ओ हुलदा, अनिता कटारा , के आर नाई. इसके अलावा एक पूर्व मंत्री एक पूर्व विधायक एक पूर्व जनरल सेक्रेटरी और एक डिस्ट्रिक्ट प्रेसिडेंट भी शामिल है. 

बता दें, भारतीय जनता पार्टी की तरफ से एक प्रेस रिलीज जारी करते हुए कहा गया है कि - राजस्थान विधानसभा के चुनाव 2018 में भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के विरूद्ध चुनाव लड़ने के कारण निम्नलिखित सदस्यों को 6 साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया जाता है.

हालांकि कुछ दिन पहले कांग्रेस को भी अपने कार्यकर्ताओं का गुस्सा झेलना पड़ा था. टिकट नहीं मिलने को लेकर स्पर्धा चौधरी के कार्यकर्ताओं ने सचिन पायलट का घेराव किया था. इस पूरे मामले पर कांग्रेस पार्टी ने स्पर्धा चौधरी को 6 साल के लिए पार्टी से सस्पेंड कर दिया था. बता दें, स्पर्धा चौधरी पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने को लेकर उनके खिलाफ ये कार्रवाई की गई थी. बता दें, इससे पहले भी कई बार चुनावी मौसम में नेताओं द्वारा टिकट नहीं मिलने पर अपनी नाराजगी जाहिर की जाती रही है.

राजस्थान में इस बार भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर देखी जा रही है. तमाम सर्वे इस बार दोनों ही पार्टियों के बीच कड़ी टक्कर की बात कर रही है. राजस्थान में 200 विधानसभा सीटों के लिए सात दिसंबर को मतदान के बाद चुनावी नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे. 

इसे भी पढ़ें: राजस्थान: कांग्रेस की दूसरी सूची जारी, CM वसुंधरा के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे मानवेंद्र सिंह

DO NOT MISS